नकली शैंपू बनाने वाली फैक्ट्री का किया भंडाफोड़, 2 कर्मचारी किए काबू

punjabkesari.in Friday, Dec 17, 2021 - 10:14 AM (IST)

अम्बाला छावनी : कैंट में टांगरी पार स्थित सोनिया कॉलोनी में पिछले लम्बे समय से अवैध फैक्टरी में डव, क्लीनिक प्लस और सनसिल्क कंपनी के नाम से नकली शैंपू तैयार किए जा रहे थे। शैंपू को बोतल में पैक करके उस पर कंपनी का लेबल लगाकर बाजार में बेचा जा रहा था, लेकिन इन प्रोडक्ट्स को बनाने वाली कंपनी ने सूचना पाते ही पुलिस में शिकायत दी और इसके बाद ड्रग कंट्रोलर व सी.आई.ए-2 की संयुक्त टीम ने मौके पर रेड कर इस खेल का भंडाफोड़ किया। मौके पर 2 कर्मियों को हिरासत में लिया गया और महेशनगर थाने में दिल्ली में कंपनी की ओर से आए प्रतिनिधि सुमित कुमार की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ कापी राइट एक्ट व धोखाधड़ी की धारा के तहत मामला दर्ज कर लिया। 

शिकायतकर्ता सुमित कुमार निवासी दिल्ली ने बताया कि वह हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी की ओर से अधिकृत है। कुछ दिन पूर्व कंपनी को सूचना मिली थी कि अम्बाला में उनकी कंपनी के नाम से नकली प्रोडक्ट्स बाजार में बेचकर लोगों के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। इसके बाद सुमित कुमार ने अम्बाला कैंट के महेशनगर क्षेत्र में स्थित सोनिया कॉलोनी में पहुंचकर अपने स्तर पर जांच की और बाद में एस.पी. को शिकायत दी गई। इसके बाद मौके पर रेड करने के लिए संयुक्त टीम गठित की गई, जिसमें सीनियर ड्रग कंट्रोल ऑफिसर सुनील दहिया, ड्रग कंट्रोल ऑफिसर रजनीश और पंचकूला से ड्रग कंट्रोल ऑफिसर प्रवीण कुमार सहित सी.आई.ए.-2 टीम को शामिल किया गया। 

इसके बाद वीरवार को मौके पर रेड की गई, जहां पर भूपेंद्र और सीताराम नाम के कर्मी काम करते मिले। इन दोनों को हिरासत में लेने के साथ ही वहां जांच की तो काफी संख्या में नकली शैंपू की बोतलों से तैयार की गई पेटियां बरामद की गई। हिंदुस्तान लीवर कम्पनी के नाम से यह उत्पाद बनाए जा रहे थे और बिना लाइसैंस के इन उत्पादों को बनाकर बाजार में बेचने का काम किया जा रहा था। इसी कारण यह नकली सामान बनाने के एवज में केस दर्ज किया गया है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static