फर्जी दस्तावेज से हासिल की थी सरकारी नौकरी, अब पुलिस ने किया गिरफ्तार

punjabkesari.in Sunday, Mar 15, 2020 - 11:36 AM (IST)

सोनीपत(पवन राठी): फर्जी दस्तावेज के आधार पर पशुपालन विभाग में नौकरी प्राप्त करने वाले डिप्टी डायरेक्टर जसवंत दहिया को पुलिस ने पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जसवंत ने 1986 में हिसार की कृषि विश्वविद्यालय से फर्जी जाति प्रमाण पत्र लगाकर बैचलर वेटरनरी साइंस एंड एनिमल हसबेंडरी की डिग्री हासिल की थी और बाद ने सरकारी नौकरी भी लग गया था।

आरोपी के खिलाफ विभाग की ही डॉ. रितु ने 28 जनवरी 2020 को एफआईआर कराई थी। तब मामले की जांच सीएम फ्लाइंग ने की थी। आरोपी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। डॉ. रितु सिंह ने सिटी थाने में शिकायत दी थी कि डॉ. जसवंत सिंह निवासी सिसाना ने धोखाधड़ी कर फर्जी दस्तावेज पर पशुपालन विभाग में नौकरी प्राप्त की है। 

डॉक्टर जसवंत जरनल कैटेगरी से हैं, जबकि उन्होंने 14 जून 1986 को एसटी कैटेगरी का फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाया था। इसके बाद पशु चिकित्सक की डिग्री अर्जित की और बाद में हरियाणा सरकार को धोखे में रखकर सरकारी नौकरी प्राप्त की। जांच अधिकारी बिजेंद्र ने बताया कि आरोपी ने शुरुआती पूछताछ में बताया कि वर्ष 1986 में एससी कैटेगरी में वेटनरी सर्जन हरियाणा एग्रीकल्चर विश्वविद्यालय हिसार में दाखिला लिया था। यहां से डिग्री प्राप्त की। जसवंत 2004 से नौकरी में है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

vinod kumar

Related News

Recommended News

static