धर्मनगरी से किसानों के अधिकारों को लेकर सरकार से जंग का होगा आगाज : हुड्डा

9/17/2020 12:10:36 PM

कुरुक्षेत्र/करनाल (धमीजा/मनोज) : किसानों के मुद्दों को लेकर लगातार सक्रिय पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा एक बार फिर कुरुक्षेत्र पहुंचे। यहां उन्होंने किसान, मजदूर और आढ़तियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि बिना किसानों की सहमति के उन पर 3 काले कानून थोपना तानाशाही है। कांग्रेस हर स्तर पर तीनों कानूनों का विरोध करेगी। इसके लिए बड़े से बड़ा आंदोलन करना पड़ा तो कांग्रेस करेगी। 

कांग्रेस द्वारा राज्यपाल से मुलाकात कर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की जाएगी। रेलवे रोड स्थित एक निजी होटल में पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए हुड्डा ने ऐलान किया कि धर्मनगरी से किसानों के अधिकारों को लेकर सरकार से जंग का आगाज होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार पंजाब की तरह विधानसभा का सत्र बुलाकर किसान विरोधी तीनों कानूनों को सिरे से खारिज करे। क्योंकि स्वामीनाथन के सी-2 फार्मूले वाली ए.एस.पी. के 3 नए कृषि कानून किसान को मंजूर नहीं है। इसलिए सरकार को इसमें एम.एस.पी. की गारंटी का प्रावधान जोडऩा चाहिए। 

वहीं भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने करनाल अनाज मंडी में भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि किसानों के हालात व अध्यादेशों पर मंथन के लिए सरकार स्पैशल सैशन बुलाए। हुड्डा ने अध्यादेशों के खिलाफ कोर्ट जाने व विधानसभा में प्रस्ताव लाने के संकेत भी दिए। भाजपा के सांसदों की कमेटी पर चुटकी लेते हुए कहा कि इस समिति के पास न तो संवैधानिक शक्ति थी और न ही कोई एडमिनिस्ट्रेटिव पावर। यह कमेटी तो किसानों को गुमराह करने के लिए बनाई गई थी। किसानों पर लाठीचार्ज पर भी इनके मंत्रियों में विरोधाभास है। एक मंत्री कहते हैं कि लाठीचार्ज नहीं हुआ वहीं, दूसरे इसकी ङ्क्षनदा करते हैं। 


Manisha rana

Related News