Farmers Protest : कृषि कानूनों के विरोध में 15 गांवों के किसानों ने बनाई ट्रैक्टर शृंखला

2/28/2021 9:29:49 AM

सोनीपत : कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग को लेकर शनिवार को किसान मजदूर संघर्ष समिति की अगुवाई में सोनीपत-गोहाना रोड पर किसानों ने ट्रैक्टर शृंखला बनाकर रोष प्रकट किया। किसानों ने कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती हैं, वे आंदोलन वापस नहीं लेंगे। इसके साथ-साथ किसानों ने सरकार को नसीहत भी दी कि वह सब्र की परीक्षा न ले।

शनिवार को किसानों ने आजादी के महान क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस और भक्ति काल के महान संत रविदास की जयंती पर किसान मजदूर संघर्ष समिति की तरफ से सोनीपत से गोहाना के बीच में अपने-अपने गांव के बस अड्डों के सामने ट्रैक्टर-ट्रॉली की शृंखला बनाई। इसमें अनेक गांव के किसान और मजदूर शामिल हुए। इसमें खेड़ी दहिया, नैना तातारपुर, रतनगढ़, मोहाना, पिनाना, सलारपुर माजरा जोली, लाठ, बड़ौता, खेडी दमकन दोदवा, माच्छरी, हुल्लाहेड़ी, भटगांव आदि गांव के किसानों ने बड़े जोश के साथ भाग लिया।

PunjabKesari
किसान मजदूर संघर्ष समिति सोनीपत के संयोजक मास्टर ईश्वर दहिया ने कहा कि कृषि विरोधी तीनों काले कानूनों, बिजली संशोधन बिल-2020 के विरोध में आंदोलन बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है। एम.एस.पी. की कानूनी गारंटी तक यह आंदोलन जारी रहेगा। इस दौरान डा. सतपाल, अनूप सिंह, दलेल, अशोक, बलवान, रामफल, राजवीर आदि उपस्थित रहे। ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के विजेंद्र सिंह दहिया ने कहा कि 3 महीने से ज्यादा समय से किसान आंदोलन लड़ते हुए विजय की तरफ बढ़ रहा है। ट्रैक्टर-ट्रॉली की शृंखला के दौरान सड़क पर से गुजरने वाले वाहन चालकों को किसी भी प्रकार से रोकने का प्रयास नहीं किया गया और पूरा प्रदर्शन शांतिपूर्वक तरीके से समाप्त हुआ। शाम के 4 बजे के बाद सभी किसानों ने प्रदर्शन को समाप्त कर दिया।

किसान मजदूर संघर्ष समिति ने रविदास जयंती व चंद्रशेखर आजार के बलिदान दिवस पर किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉली शृंखला बनाकर प्रदर्शन करने का फैसला किया था जिसके अंतर्गत शनिवार को बड़वासनी से गोहाना तक विभिन्न गांवों के मुख्य अड्डे पर सड़क किनारे ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खड़ी करके शृंखला बनाई गई थी और सरकार से मांग की गई कि वह तीनों कृषि कानूनों को जल्द से जल्द रद्द करे। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 

 


Content Writer

Manisha rana

Related News