2020 में नशा कारोबारियों पर भारी पड़ी हरियाणा पुलिस, 3000 से अधिक तस्करों को किया गिरफ्तार

punjabkesari.in Wednesday, Jan 06, 2021 - 10:59 AM (IST)

चंडीगढ़ : हरियाणा पुलिस ने वर्ष 2020 में ड्रग माफिया पर चौतरफा हमला करते हुए नशा कारोबारियों के नेटवर्क को ध्वस्त करने में सफलता हासिल की है। सालभर पुलिस ने नशा तस्करों के खिलाफ अभियान तेज कर 22.5 टन से अधिक मादक पदार्थ जब्त किया। हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डी.जी.पी.) मनोज यादव ने बताया कि पुलिस द्वारा 2020 में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत कुल 3024 मामले दर्ज किए, जबकि 2019 में 2645 मामले दर्ज हुए थे। जब्त मादक पदार्थ की मात्रा भी 2019 की तुलना में गत वर्ष 41.5 फीसदी अधिक रही। जनवरी से दिसम्बर 2020 के बीच पुलिस द्वारा कुल 22569 किलोग्राम अफीम, चरस, सुल्फा, चूरा व डोडापोस्त, स्मैक, गांजा और हैरोइन जब्त की गई। उन्होंने बताया कि पुलिस ने 225 किलो अफीम, 250 किलोग्राम चरस/सुल्फा, 12828 किलोग्राम से अधिक चूरा व डोडापोस्त, 8 किलो 253 ग्राम स्मैक, 9223 किलोग्राम से अधिक गांजा और 33 किलो 198 ग्राम हैरोइन जब्त की।

सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप ऐसे लगाई नशे के अवैध कारोबार पर रोक
डी.जी.पी. ने कहा कि पुलिस मादक पदार्थों की तस्करी को रोकते हुए नशे के सौदागरों पर शिकंजा कसने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। यह हमारी पुलिस टीमों के प्रयासों के साथ-साथ अंतर्राज्यीय स्तर पर सूचना के आदान-प्रदान के कारण ही संभव हुआ है कि 2019 की तुलना में बीते साल गिरफ्तारियों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। हमने एक बहुआयामी दृष्टिकोण अपनाते हुए प्रदेश से भारी मात्रा में नशा जब्त कर नशा कारोबारियों के मंसूबों को ध्वस्त किया। स्पैशल टास्क फोर्स सहित हमारी फील्ड इकाइयों ने राज्य में सभी प्रकार के नशीले पदार्थों की संभावित आपूर्ति को रोका। उन्होंने कहा कि हरियाणा को नशामुक्त राज्य बनाने की सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप पुलिस लगातार मादक पदार्थ की तस्करी पर अंकुश लगा रही है।

मामले हुए दर्ज
एन.डी.पी.एस. अधिनियम के तहत अधिकतम 713 मामले सिरसा में दर्ज किए गए, जिसके बाद फतेहाबाद में 326, गुरुग्राम में 224, कैथल में 164, हिसार में 162, रोहतक में 157 और पानीपत में 131 मामले दर्ज किए गए।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Manisha rana

Related News

Recommended News

static