अग्रसेन की जीवनी पाठ्यक्रम में शामिल करवाने के लिए सीएम को ज्ञापन सौंपेंगे हरियाणा प्रदेश वैश्य महासम्मेलन

punjabkesari.in Tuesday, Jun 21, 2022 - 10:22 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): समाजवाद के प्रवर्तक महाराजा अग्रसेन की जीवनी पाठ्यक्रम में शामिल करवाने की मांग को लेकर हरियाणा प्रदेश वैश्य महासम्मेलन आगामी 24 जून को मुख्यमंत्री के नाम जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपेंगा। यह जानकारी देते हुए सम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के पूर्व मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने बताया कि सदियों से समाज के नवनिर्माण में महाराज अग्रसेन के संदेशों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इसलिए सरकार ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हिसार एयरपोर्ट का नाम महाराज अग्रसेन के नाम पर रखा तथा इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय मीरपुर रेवाड़ी में उनके नाम पर शोध पीठ की स्थापना की।

राजीव जैन ने बताया कि शोध पीठ पर 7 वर्षों बाद विश्वविद्यालय एवं वैश्य सम्मेलन के बीच एम.ओ.यू साइन होने के बाद शोध कार्य शुरू हो चुका है। शोध के माध्यम से आज के युग में महाराज अग्रसेन के सिद्धांतों की आर्थिक, सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में प्रासंगिकता के जो विषय तैयार होंगे उनको भावी पीढ़ी तक पाठ्यक्रम के माध्यम से पहुंचाना जरूरी है।

वैश्य नेता ने कहा कि महाराज अग्रसेन की जीवनी को पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग बहुत पुरानी है और बार-बार सभी संगठन अलग-अलग ढंग से उठाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि महाराज अग्रसेन की कर्म स्थली हरियाणा रही है। इसलिए प्रदेश के विद्यार्थियों को उनके सिद्धांतों से आत्मसात होना जरूरी है। राजीव जैन ने कहा कि उनकी जीवनी को पाठ्यक्रम में शामिल करवाने के लिए पूरे प्रदेश में जन जागरण अभियान चलाया जायेगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static