...यहां तो डॉक्टर ही नहीं लगवा रहे कोरोना वैक्सीन, एक ने लिख कर बताया कारण

1/16/2021 4:49:19 PM

डबवाली (संदीप): डबवाली नागरिक अस्पताल के डॉक्टर अर्चित बांसल ने कोविड वैक्सीन का टीका लगवाने से साफ मना कर दिया। इसे लेकर डॉक्टर ने बाकायदा लिखित में बताया कि मुझे कोरोना वैक्सीन के इस टीके से जुड़े सभी फायदे मालूम हैं लेकिन मैं अपनी इच्छा से कोरोना की वैक्सीन का यह टीका खुद पर नहीं लगवाना चाहता। डॉक्टर ने यह बात रजिस्ट्र में लिखकर दर्ज कराई। 

PunjabKesari, haryana

इसके अलावा डबवाली नागरिक अस्पताल में आज जिन 100 लोगों के कोविड का टीका लगना था उनमें से सिर्फ 14 लोगों ने ही दोपहर 2 बजे तक कोविड का टीका लगवाया। इन 14 में से 4 डाक्टर्स शामिल थे जबकि 10 आउटसोर्सिंग कर्मचारी व स्वास्थ्य विभाग के अन्य पदों पर कार्य करने वाले कर्मचारी शामिल थे। पहला टीका अस्पताल में फार्मासिस्ट के पद पर कार्यरत सतीश कुमार ने लगवाया। कुल मिलाकर कोविड का टीका लगवाने को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों में ही उदासीनता नजर आई। ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि आने वाले समय में स्वास्थ्य विभाग साधारण आदमी को कोविड वैक्सीन के इस टीके को लगवाने के लिए कैसे तैयार करेगी।

PunjabKesari, Haryana

अधिकतर डाक्टर डैपूटेशन और छुट्टी पर
डबवाली के नागरिक अस्पताल में जिन 100 स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड का टीका लगाए जाने की लिस्ट विभाग ने बनाई थी उनमें से अधिकतर टीका लगवाने पहुंचे ही नहीं। टीकाकरण अभियान में जिन कर्मियों की ड्यूटी लगी थी, उन्होंने एक दिन पहले सभी 100 लोगों को फोन करके सूचित किया था कि वे शनिवार सुबह डबवाली नागरिक अस्पताल में कोविड का टीका लगवाने जरूर पहुंचे। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने टीका लगवाने में रूचि नहीं दिखाई। इस वजह से टीकाकरण में ड्यूटी देने वाले एएनएम व अन्य कर्मचारी टीका लगवाने वालों के इंतजार में बैठे रहे।

कोरोना काल में डॉक्टर्स और अन्य हेल्थ वर्कस को कोरोना योद्घा की उपाधि दी गई थी। लेकिन आज जब स्वास्थ्य विभाग ने कोविड की वैक्सीन लगवाने की लिस्ट जारी की तो अधिकतर स्वास्थ्य कर्मी टीका लगवाने नहीं पहुंचे। ऐसे में सवाल उठता है कि भविष्य में जब देश में टीकाकरण अभियान तेज होगा तब आम आदमी कोविड वैक्सीन लगवाने में कितनी रूचि दिखाएगा।

PunjabKesari, haryana

इसके अलावा डबवाली नागरिक अस्पताल के डॉ. गगनदीप, डॉ. गौरव बांसल, डॉ. सुखवंत  सिंह , डॉ. विजय ने कोरोना का टीका लगवाया। एक नॢसंग सिस्टर ने कोविड का यह टीका लगवाया। इसके अलावा 2 क्लर्क ने कोविड का टीका खुद के लगवाया। कुल 100 स्वास्थ्यकर्मियों की लिस्ट टीका लगाने को लेकर तैयार की गई थी।

किसी के जबरदस्ती नहीं लगा सकते
कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाने को लेकर लिखकर देने वाले डबवाली नागरिक अस्पताल के डॉक्टर के बारे में अस्पताल के एसएमओ डॉ. एमके भादू से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि किसी के जबरदस्ती टीका नहीं लगा सकते। यह तो सामने वाले की इच्छा पर निर्भर करता है कि वह टीका लगवाना चाहता है या नहीं लगवाना चाहता है। किसी के भी साथ हम जबरदस्ती नहीं कर सकते हैं।


Shivam

Related News