सरकार के फैसले के विरोध में IMA से जुड़े डॉक्टर आज हड़ताल पर

12/11/2020 1:44:25 PM

डेस्क : सरकार के फैसले के विरोध में आईएमए से जुड़े डॉक्टर आज हड़ताल पर है। केंद्र सरकार 2020 में आयुर्वेद में एक अध्यादेश लेकर आई उसके बाद आयुर्वेद के डॉक्टर भी सर्जरी कर सकेंगे। इसको लेकर आईएमए डॉक्टर हड़ताल पर चले गए। एमबीबीएस डॉक्टरों ने कहा कि 6 महीने की ट्रेनिंग में कोई भी आयुर्वेद का डॉक्टर दो सर्जरी नहीं सकता और हम 12 साल की ट्रेनिंग के बाद ही एक सर्जरी कर सकते हैं।

फतेहाबाद (रमेश भट्ट) : आयुर्वेदिक चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति देने के सरकार के फैसले के विरोध में एलोपैथिक डॉक्टर आज हड़ताल पर हैं। आईएमए से जुड़े तमाम अस्पतालों में आज हड़ताल रख ओपीडी सेवाएं बंद की गई हैं। निजी चिकित्सकों के आज हड़ताल पर होने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बदलते मौसम के कारण बड़ी संख्या में मरीज निजी अस्पतालों में इलाज के लिए आ रहे हैं।

वहीं आईएमए ने कहा कि सरकार ने जो पॉलिसी लागू की है उससे न केवल चिकित्सक प्रभावित होंगे बल्कि आम आदमी की जिंदगी के साथ भी खिलवाड़ करने जैसा है। क्योंकि आयुर्वेदिक चिकित्सकों का सर्जरी में कोई विशेष अनुभव नहीं है इसलिए इस प्रकार की पॉलिसी लागू करना बेमानी है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार चिकित्सकों की कमी पूरी करना चाहती है तो सरकार को एमबीबीएस की सीटें बढ़ानी चाहिए, पर्याप्त मेडिकल कॉलेज खोले जाने चाहिए। बता दें कि सरकार ने हाल ही में आयुर्वेद में स्नातकोत्तर चिकित्सकों को सर्जरी करने की अनुमति दी है। जिसके तहत ये चिकित्सक 58 प्रकार के आप्रेशन कर सकेंगे, जिसका आईएमए से जुड़ा चिकित्सक वर्ग लगातार विरोध करता आ रहा है।

सोनीपत (पवन राठी) : आज पूरे देश भर में आईएमए के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं और अगर आप अपने इलाज के लिए निवेश साल में जा रहे हैं तो ये खबर आपके लिए है क्योंकि निजी अस्पतालों में आज इमरजेंसी और कोविड-19 जैसी सेवाएं जारी रहेगी। उसके अलावा ओपीडी बंद रहेंगी। सोनीपत में भी सभी निजी अस्पतालों में ओपीडी बन रही है। आईएमए के बैनर के तले सभी निजी सालों के डॉक्टर ने महाराजा अग्रसेन भवन में प्रदर्शन किया।

करनाल (विकास) : करनाल में भी आज 12 घंटे की हड़ताल पर मेडिकल एसोसिएशन के सभी डॉक्टर रहे हड़ताल पर है। जानकारी के मुताबिक आज सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक, सभी गैर-आपातकालीन और गैर-कोविड मेडिकल सेवाएं ठप रहेंगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का फैसला है कि आयुर्वेद के डॉक्टर्स भी अब सर्जरी कर सकेंगे। इसी फैसले के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने 8 दिसंबर से विरोध जताना शुरू कर दिया।  आईएमए का मानना है कि इससे मिक्सोपैथी को बढ़ावा मिलेगा।

भिवानी (अशोक भारद्वाज) : भिवानी में आज आईएमए के चिकित्सकों ने अपनी हड़ताल की। उनका कहना था कि सरकार आयुर्वेद डॉक्टरों को अब ऑपेरशन करने का भी लाइसेंस दे रही है। जिसका नुकसान आमजन को होगा क्योंकि उन्हें सही तरीके से इलाज नहीं करना आएगा और मरीजों को नुकसान होगा। आईएमए के जिला प्रधान कर्ण पूनिया ने बताया कि इस मामले को लेकर पहले ही स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिख चुके है। इस मामले को लेकर कोर्ट की शरण में भी जा चुके है। वर्ष 2004 व 2010 में कोर्ट ने इस मामले में रोक लगाने के आदेश दिए थे।

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Manisha rana

Related News

Recommended News

static