दक्षिण एशियाई सांस्कृतिक महोत्सव शुरु, 5 देशों, 28 विश्वविद्यालयों से पहुंचे 600 युवा कलाकार

punjabkesari.in Tuesday, Feb 25, 2020 - 04:06 PM (IST)

कुरुक्षेत्र(पंकेस): राज्यसभा सांसद लैफ्टिनैंट जनरल डी.पी. वत्स ने कहा है कि तक्षशिला, नालंदा का इतिहास फिर से लौटकर आएगा। भारत, नेपाल, भूटान बंगलादेश, अफगानिस्तान की गौरवता को साऊ फैस्ट दोहराएगा। वे सोमवार को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के युवा सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग की ओर से आयोजित 13वें दक्षिण एशियाई महोत्सव के उद्घाटन सत्र में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। इससे पूर्व कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में सोमवार को विभिन्न देशों व राज्यों की संस्कृति व वेशभूषा के परिचय व विविधताओं से भरी सांस्कृतिक शोभायात्रा के साथ ही 13वें दक्षिण एशियाई महोत्सव का आगाज हुआ।

कुरुक्षेत्र विवि के कुलपति डा. कैलाश चन्द्र शर्मा ने विश्वविद्यालय के खेल प्रांगण में झंडा दिखाकर सांस्कृतिक शोभायात्रा का उद्घाटन किया। उसके बाद विश्वविद्यालय के विभिन्न मार्गों से होते हुए शोभायात्रा विश्वविद्यालय के मंच से अपनी कला एवं संस्कृति से खुद का परिचय देते हुए आडिटोरियम हॉल में सम्पन्न हुई। इससे पूर्व राज्यसभा सांसद लैफ्टिनैंट जनरल डी.पी. वत्स, सांसद नायब सिंह सैनी व कुलपति डा. कैलाश चन्द्र शर्मा ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का शुभारंभ का किया।

दक्षिण एशियाई युवा सांस्कृतिक समारोह के मुख्यातिथि राज्यसभा सांसद लैफ्टिनैंट जनरल डी.पी. वत्स व सांसद नायब सिंह सैनी ने आडिटोरियम हॉल केबाहर फ्लावर फैस्टीवल, शिल्प ग्राम का उद्घाटन किया। इसकेबाद विश्वविद्यालय के आडिटोरियम हॉल में विधिवत रूप से साऊ फैस्ट 2020 का रिबन काटकर उद्घाटन किया। इस अवसर पर बोलते हुए राज्यसभा सांसद लैफ्टिनैंट जनरल डी.पी. वत्स ने कहा कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय का दक्षिण एशियाई युवा महोत्सव विभिन्न देशों की संस्कृतियों का एक मंच पर संगम है। यह महोत्सव इस क्षेत्र के देशों में खुशहाली, समृृद्धि, आपसी प्यार, प्रेम व भाईचारे का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि नेपाल, भूटान, बंगलादेश व भारत सभी देश धरती पर हिमालय का वरदान हैं। इसलिए इन देशों में कला, संस्कृति, वेशभूषा व बोली भी एक जैसी है। 

उद्घाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए सांसद नायब सिंह सैनी ने कहा कि हरियाणा प्रदेश के लिए यह गौरव का विषय है कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को 13वें दक्षिण एशियाई सांस्कृतिक महोत्सव की मेजबानी का मौका मिला है। कुरुक्षेत्र लोकसभा का सांसद होने के नाते मैं सभी विदेशी व देश के अलग-अलग राज्यों से पहुंचे कलाकारों को शुभकामनाएं एवं बधाई देता हूं। कुरुक्षेत्र विवि के कुलपति डा. कैलाश चन्द्र शर्मा ने कहा कि दक्षिण एशियाई युवा महोत्सव में दक्षिण एशियाई कला एवं संस्कृति को हम एक मंच पर देखते हैं। 

उद्घाटन सत्र में बोलते हुए वल्र्ड आर्गेनाईजेशन फॉर यूथ एंड कृचर के अध्यक्ष नीतिन शर्मा ने कहा कि युवाओं को विश्व को देखने का नजरिया बदलने की जरूरत है। इसे बदलकर ही दुनिया में बदलाव लाया जा सकता है। उद्घाटन सत्र में मेहमानों का स्वागत करते हुए युवा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग के निदेशक प्रो. तेजेन्द्र शर्मा ने कहा कि 13वें दक्षिण एशियाई युवा महोत्सव में 5 देशों, 28 विश्वविद्यालयों से 600 से अधिक प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। 24 से 28 फरवरी के बीच होने वाले इस महोत्सव में प्रतिभागी 9 विधाओं मेें अपनी प्रस्तुतियां देंगे। 

इस मौके पर के.यू. सांस्कृतिक के अध्यक्ष डा. हरिप्रकाश ने सभी का धन्यवाद किया। कार्यक्रम के अंत में कुलपति डा. कैलाश चन्द्र शर्मा ने श्रीफल व स्मृति चिन्ह भेंट कर मेहमानों का अभिनंदन किया। इस अवसर पर कुलसचिव डा. नीता खन्ना, डीन एकैडमिक अफेयर प्रो. मंजूला चैधरी, प्रो. पवन शर्मा, प्रो. रजनीश शर्मा, प्रो.श्याम कुमार, प्रो. आर.के. देसवाल, प्रो. बृजेश साहनी, डा. हितेन्द्र त्यागी, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, जिला परिषद के चेयरमैन गुरदयाल, डीन, डायरैक्टर, शिक्षक व कलाकार मौजूद थे।

ऐसे रहेंगे कार्यक्रम
मंगलवार को विश्वविद्यालय के आडिटोरियम हॉल में सुबह 10 से 12 बजे तक फाक आर्कैस्ट्रा, सायं 2.30 से 5 बजे तक क्लासिकल डांस व सायं 5 से 7 बजे तक विभिन्न देशों व राज्यों की फाक कास्ट्यूम की प्रस्तुतियां होंगी। इसके साथ ही माइम, सीनेट हॉल में एलोक्यूशन, क्ले मॉडङ्क्षलग प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

vinod kumar

Related News

Recommended News

static