छात्रा ने लिखी प्रेरक किताब, बुजर्गों ने किया विमोचन

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 04:16 PM (IST)

चंडीगढ़( चंद्र शेखर धरणी): आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में जिला रेडक्रास सोसायटी पंचकुला के प्रांगण में स्थानीय नवोदित लेखिका ने वैचारिक आजादी की अवधारणा के प्रति प्रेरित करती अपनी पहली किताब 'फैशनइस्टा: बी दा रियल यू' का विमोचन रेडक्रास सोसायटी वृद्धाआश्रम के बुजुर्गों के हाथों से करवाया। हाल ही में दस जमा दो की परीक्षा उतीर्ण करने वाली सेक्टर 15 निवासी छात्रा भव्या गुलाटी ने अनूठे अंदाज में बुजुर्गों से पुस्तक विमोचन कराते हुए पुस्तक को लेकर बुजुर्गों से पुस्तक के विषय पर विस्तृत चर्चा की। भव्या ने बताया कि मूल रूप से पुस्तक का सार यह है कि सामाजिक ताने-बाने में व्यक्तिगत आलोचना को जो बोल-बाला है उसे दरकिनार किया जाना चाहिए।

हर व्यक्ति में कोई न कोई प्रतिभा है और हर व्यक्ति प्रतिभाशाली है। हर व्यक्ति को खुद से प्यार करना चाहिए और वैचारिक आजादी के साथ अपने लक्ष्य को पाना चाहिए। पुस्तक लेखिका ने बताया कि बुजुर्गों के अनुभव हमारे सफल जीवन की कुंजी है और हम जैसे हैं वैसे अच्छे हैं के विचार के साथ सीमित साधनों में भी बेहतर जीवन जिया जा सकता है। नई पीढ़ी के लिए पुस्तक में इस विषय पर भी चर्चा की गई है कि ब्रांडिड की अवधारणा केवल मार्केटिंग की वस्तु भर है सफल जीवन की गारंटी कतई नहीं रोजमर्रा की जिंदगी में आदमी की खुद से वैचारिक उलझनों पर सहजता से चर्चा करते हुए आत्मविश्वास के साथ जिदंगी जीने की परिकल्पना भी पुस्तक में सफल लोगों के उदाहरण देकर की गई है।

वृद्धाआश्रम के बुजुर्गों ने अपने अनुभव सांझा करते हुए पुस्तक के विषयों की प्रशंसा की एवं नवोदित लेखिका को बधाई दी। जिला रेडक्रास सोसायटी की सचिव सविता अग्रवाल ने भव्या को शुभकानाएं देते हुए कहा कि यह प्रशंसनीय है कि नई पीढ़ी ने बुजुर्गों से पुस्तक विमोचन कर उनसे अपने अनुभव सांझा किए हैं। उन्होंने कहा उम्मीद है पुस्तक से युवा वर्ग को प्ररेणा मिलेगी और बिना किसी दिखावे के सफल जिदंगी के लिए मेहनत से अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे। इस मौके पर सहायक सचिव डोली रानी, समिति सहायक नीलम शर्मा, मनोज गुलाटी, सीमा, गंभीर रावत, सतीश, मनीष व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। 

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static