स्कूल-कॉलेज की दीवारों पर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे, करनाल पुलिस में मचा हडकंप

punjabkesari.in Monday, Jun 20, 2022 - 06:38 PM (IST)

करनाल: सीएम सिटी करनाल में दो शिक्षण संस्थानों की दीवारों पर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे होने की घटना सामने आई है। खालिस्तानी समर्थक गुरपंत सिंह पन्नू ने भी इसे लेकर एक वीडियो जारी किया है। यह वीडियो सामने आने के बाद करनाल पुलिस और खुफिया विभाग में हड़कंप मच गया। पुलिस ने मामले की गंभीरता समझते हुए अज्ञात के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इसी के साथ पुलिस आसपास की दुकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने में जुट गई है।

अज्ञात की पहचान में सीसीटीवी की फुटेज खंगाल रही पुलिस

दरअसल शहर के दयाल सिंह कालेज और डीएवी  सीनियर सैकंडरी स्कूल की दीवारों पर खालिस्तान के समर्थन में नारे लिखे हुए मिले हैं। दीवारों पर ‘खालिस्तान जिंदाबाद’, ‘हरियाणा बनेगा खालितान’ जैसे नारे लिखे हुए मिले तो जिला पुलिस तुरंत हरकत में आई। पुलिस ने तुरंत इन नारों को दीवार से हटाया। फिलहाल करनाल पुलिस और खुफिया विभाग यह जानने में जुट गया है कि इसके पीछे किसका हाथ हो सकता है। पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने में लग गई है। इसी बीच खालिस्तान समर्थक गुरपंत सिंह पन्नू ने भी इसे लेकर एक वीड़ियो जारी की है। आशंका लगाई जा रही है कि इसके पीछे पन्नू का भी हाथ हो सकता है।

कई टीमों का गठन कर मामले की जांच में जुटी पुलिस

करनाल पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया ने बताया कि एक वीडियो वायरल किया गया है, जिसमें  गुरपतवंत सिंह पन्नू द्वारा हरियाणा और पंजाब बनेगा खालिस्तान जैसे नारे लगाए गए हैं। खालिस्तान समर्थक पन्नू ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज को चेतावनी दी गई है कि 26 जनवरी को हरियाणा में खालिस्तान रेफरेंडम को लेकर वोट डाली जाएगी। पन्नू ने कहा है कि खालिस्तान रेफरेंडम के लिए पड़ने वाले वोट को नहीं रोकने पर प्रदेश में गोलियों की  आवाज गूंजेगी। सीपी गंगाराम पुनिया ने कहा कि प्रदेश में माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है और इसको लेकर कोई भी कोताही नहीं बरती जाएगी। इसलिए पुलिस की कई टीमें उन अज्ञात युवकों को पकड़ने में जुट गई हैं, जिन्होंने स्कूल और कॉलेज की दीवारों पर ये स्लोगन लिखे हैं। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static