खट्टर ने पंजाब व राजस्थान को मक्का, बाजरा व सरसों की खरीद एम.एस.पी. पर करने की दी चुनौती

10/22/2020 8:32:44 AM

चंडीगढ़ (बंसल) : मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंजाब व राजस्थान को हरियाणा की भांति मक्का, बाजरा व सरसों की खरीद करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि केंद्र में इन फसलों का एम.एस.पी. नहीं होने के बाद भी हरियाणा सरकार किसानों की इन फसलों का दाना-दाना एम.एस.पी. पर खरीद रही है। पंजाब की कै. अमरेंद्र सरकार की ओर से विधानसभा में पास किए गारंटी विधेयक को लेकर उन्होंने कहा कि कानून बनाने से कुछ नहीं होने वाला। उन्होंने कहा अगर पंजाब में धान की कम आवक रही तो स्पष्ट हो जाएगा कि कानून बनाने से कोई फायदा नहीं होगा।

मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए कृषि कानूनों को किसान हितैषी बताया। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों व कुछ किसान संगठनों की ओर से किसानों को गुमराह किया जा रहा है। किसानों को बहुत जल्द यह बात समझ में आएगी कि इन कानूनों से उन्हें कितना फायदा हुआ है। 

कृषि कानूनों के विरोध में भाजपा छोडऩे वाले नेताओं पर टिप्पणी करते हुए सी.एम. ने कहा, ये लोग भ्रमित हो गए हैं। बहुत जल्द उन्हें समझ आएगा कि उन्होंने गलती की है। इसके बाद वे पुनर्विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा ने किसानों की सब्जियों व बागवानी फसलों को भी भावांतर भरपाई योजना में शामिल किया है ताकि किसी भी सूरत में किसानों को नुक्सान न हो। उनका लागत मूल्य उन्हें हर हाल में मिले। 

बरोदा के लोग विकास को ही चुनेंगे
मुख्यमंत्री ने विश्वास जताया कि बरोदा की जनता भी विकास को चुनेगी। उन्होंने कहा कि बरोदा के लोगों ने देखा है कि वहां 3-4 माह में विकास के जो काम हुए हैं,वह कांग्रेस विधायकों ने क्यों नहीं करवाए। उन्होंने कहा कांग्रेस ने तो लगातार 10 वर्षों तक राज किया लेकिन बरोदा हलके के साथ अनेदखी की गई। निर्दलीय प्रत्याशी कपूर सिंह नरवाल की ओर से कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन देने से जुड़े सवाल पर सी.एम. ने कहा कि इससे कुछ नहीं होगा। लोगों को पता है कि उनका भला कौन कर सकता है। मुख्यमंत्री ने 5 नवम्बर से शुरू होने वाले विधानसभा के सत्र को लेकर बताया कि कई काम लंबित हैं, जिन्हें इस सत्र में पूरा किया जाएगा।


Manisha rana

Related News