सिद्धू का बड़बोलापन और कांग्रेसी संस्कृति का ज्ञान ना होना कांग्रेस को ले डूबा :कुलदीप शर्मा

punjabkesari.in Tuesday, Mar 15, 2022 - 03:32 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा विधानसभा के पूर्व स्पीकर, वरिष्ठ-कद्दावर-एक बड़े राजनीतिक परिवार से संबंध रखने वाले राजनीतिक बारीकियों को समझने वाले कांग्रेसी विधायक कुलदीप शर्मा ने गहरी टिप्पणियां पंजाब चुनावों को लेकर की है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस ने उसी दिन अपनी कब्र खोद ली थी, जब राजा अमरेंद्र सिंह को हटाने का फैसला किया गया। चुनावों से मात्र 3 महीने पहले सीएम को बदला जाना, एक अच्छा फैसला नहीं था। अगर यह फैसला लेना ही था तो कम से कम एक या डेढ़ साल पहले लेते। इसके साथ- साथ नवजोत सिंह सिद्धू जैसे बड़बोले व्यक्ति जिनका बैकग्राउंड कांग्रेस है ही नहीं, जिन्हें कांग्रेस की संस्कृति और अनुशासन के बारे में कोई जानकारी नहीं, उन्हें पंजाब जैसे प्रदेश जिसमें चुनाव होने हैं का अध्यक्ष बनाया जाना एक बेहद गलत फैसला है। लगातार सिद्धू के गलत बयान, अनुशासनहीनता, केंद्रीय नेतृत्व पर टिप्पणियां और मुख्यमंत्री पर कटाक्ष बेहद नुकसानदायक साबित हुए। केवल सिद्धू ही नहीं बहुत से नेताओं ने इस प्रकार के बयान दिए जो कांग्रेस को ले डूबे।

अगर कांग्रेस सत्ता में अब नहीं आई तो फिर कभी नहीं आएगी :कुलदीप शर्मा

आम आदमी पार्टी में शामिल होने की भागदौड़ को लेकर ब्यान देते हुए शर्मा ने कहा कि जिन लोगों का भविष्य अंधकार में है या भविष्य सुनिश्चित नहीं है या वह असुरक्षित महसूस कर रहे हैं वह आम आदमी पार्टी में जाने को बेताब हैं। इस पर पार्टी के हाईकमान को गहन चिंतन करना चाहिए। चुनाव से हार जाना कोई बड़ी बात नहीं। लेकिन विचार और जमीन से जुड़ कर रहना ही राजनीतिक कला है। लेकिन कांग्रेस पार्टी उस कला को नहीं अपना पाई। कांग्रेस महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी की पार्टी है। जिनका एक बलिदानी इतिहास है। लेकिन कोई भी नेता उनके बारे में बात नहीं करता तो ऐसे में आने वाली पीढ़ी इनके कुर्बानियों को कैसे याद रख पाएगी। शर्मा ने कहा कि कांग्रेस सत्ता में फिर से आ सकती है। लेकिन लोगों के बीच में जाना, दुख सुख में शामिल होना ही उसका एकमात्र मूल मंत्र है। आज नेताओं को धरातल से कोई सरोकार नहीं। मेरे स्वयं के सामने अब लड़ने वालों को आज मजबूत किया जा रहा है तो ऐसे में स्वयं सोचे कि मुझे कैसा महसूस होगा। अगर कांग्रेस अब सत्ता में नहीं आई तो फिर कभी नहीं आएगी।

 संगठन चुनाव से पार्टी खड़ी हो जाएगी मुझे इस पर शक है :कुलदीप शर्मा

शर्मा ने कहा कि कांग्रेस को मजबूत करने के लिए हाईकमान की कोई कोशिश ही नहीं है। आपसी ग्रुपबाजी घटने की बजाए बढ़ती जा रही है। बिना राजनीतिक आधार वाले लोगों को कोटे के अनुसार विधानसभा चुनाव में टिकट वितरित की गई। नतीजतन बिना धरातल से जुड़े लोगों की जमानतें जप्त हो गई। शर्मा ने कहा कि पार्टी के संगठन चुनाव से पार्टी खड़ी हो जाएगी मुझे इस पर शक है। क्योंकि जिस प्रकार से पिछले विधानसभा चुनावों में कोटा सिस्टम जारी हुआ, अगर संगठन में भी इस प्रकार से हुआ जमीन से जुड़े लोगों की अनदेखी हुई, जातिगत- धार्मिक- राजनीतिक समीकरणों को छोड़कर तेरा- मेरा के समीकरण हावी रहे तो कितना भी बड़ा संगठन कांग्रेस पार्टी खड़ा कर ले कोई फायदा होने वाला नहीं है। कांग्रेस की विचारधारा से जुड़े लोगों के हाथों में संगठन की ताकत होनी चाहिए, ना की इधर उधर से कांग्रेस में शामिल हुए लोगों का कब्जा संगठन में होना चाहिए।

चापलूस लोग भरे पड़े हैं सीडब्ल्यूसी में, ऐसे लोगों से बचने की कांग्रेस को बेहद जरूरत :  कुलदीप शर्मा

शर्मा ने केंद्रीय नेतृत्व पर भी सवाल खड़ा करते हुए कहा कि सफेद को सफेद और काले को काला ना कहने वाले लोग संगठन को नुकसान पहुंचा रहे हैं। आज पार्टी के लिए एक गहरे आत्म चिंतन की बेहद आवश्यकता है। हां में हां मिलाने वाले आधारहीन लोग सीडब्ल्यूसी में भरे हुए हैं। जिनसे काम चलने वाला नहीं है। कांग्रेस को ऐसे लोगों से बचने की बेहद जरूरत है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static