शराब ठेकेदार की हत्या का मामला: 4 साल पहले जितेंद्र की मौत का बदला लेने के लिए किया था मर्डर

punjabkesari.in Wednesday, Jan 19, 2022 - 09:19 AM (IST)

जींद (ब्यूरो ) : सफीदों के शराब ठेकेदार गौरव अग्रवाल की पिछले सप्ताह गोली मारकर हत्या के पीछे पुरानी दुश्मनी बताई जा रही है। सोमवार को जींद पुलिस ने जिन 2 बदमाशों को एनकाउंटर के बाद काबू किया है, उनसे अब पुलिस पता लगाने का प्रयास कर रही है कि उन्हें हथियार किसने मुहैया करवाए थे। क्या ठेकेदार की हत्या के लिए पैसा भी दिया गया। इन अहम सवालों के जवाब पुलिस को जल्द मिल जाएंगे।

पुलिस सूत्रों के अनुसार ठेकेदार गौरव अग्रवाल की हत्या लगभग चार वर्ष पहले शराब ठेकेदार जितेंद्र की हत्या का बदला लेने के लिए साहनपुर निवासी देवेंद्र ने करवाई थी। दोनों बदमाशों को शराब ठेकेदार की हत्या के लिए देवेंद्र ने ही भेजा था। साहनपुर निवासी देवेंद्र उसी दिन से फरार है, जिस दिन शराब ठेकेदार गौरव की सफीदों में पानीपत रोड स्थित उसके शराब ठेके के बाहर गोली मारकर हत्या की गई थी। यह बात उसी दिन साफ हो गई तजि की हत्यारों का ठेकेदार गौरव से कोई सीधा संबंध या दुश्मनी नहीं थी। हत्यारे तो शराब ठेकेदार को जानते ओर पहचानते तक नहीं थे। उन्होंने वारदात को अंजाम देने से पहले गौरव से ही पूछा था कि गौरव कौन है। अगर गौरव को जरा भी भनक होती कि उसकी हत्या की साजिश रची जा रही है तो वह हत्यारों को गुमराह भी कर सकता था।

साहनपुर के ही युवकों का लिया सहारा
सी.सी.टी.वी. फुटेज के आधार पर ठेकेदार की हत्या के आरोपियों की पहचान साहनपुर निवासी डेविड व अमन राठी के रुप में हुई थी। दोनों की तलाश में जींद सीआईए सूचना के आधार पर उन्हें पकडऩे के लिए गई थी, लेकिन दोनों बदमाशों ने सीआईए के टीम पर सोमवार शाम गोली चलाकर भागने का प्रयास किया था, लेकिन जवाबी कार्रवाई में दोनों बदमाशों के पैर में गोली लगने से दोनों घायल हो गए थे।

पूछताछ के बाद होगा खुलासा
पुलिस प्रवक्ता अमित कुमार के अनुसार 4 दिन पहले सफीदों में शराब ठेके पर बैठे ठेकेदार गौरव अग्रवाल की हत्या करने के आरोपियों को पकडऩे गई सीआईए की टीम पर दोनों बदमाशों ने फायरिंग कर दी थी। बदमाशों द्वारा चलाई गई गोली सीआईए की गाड़ी को लगी थी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में सीआईए टीम द्वारा चलाई गई गोली भाग रहे बदमाशों के पैर में लगी थी, जिससे दोनों घायल होकर गिर पड़े थे। पकड़े गए दोनों आरोपियों की पहचान साहनपुर निवासी अमन राठी व डेविड के रुप में हुई है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static