मिलिए वर्ल्ड बैंक के नवनियुक्त ईडी राजेश खुल्लर से, जिन्होंने एचआईवी पर लिखी किताब "वायरल मैच"

9/14/2020 9:11:34 PM

चंडीगढ़ (धरणी): वर्ल्ड बैंक के ईडी के रूप में अमेरिका में नियुक्त हुए हरियाणा के आईएएस राजेश खुल्लर की चर्चा चारों तरफ है। 
 

कौन हैं राजेश खुल्लर, जानिए
हरियाणा के आईएएस अधिकारी राजेश खुल्लर एक अच्छे लेखक भी हैं। खुल्लर ने 1984 में भौतिकी में मास्टर डिग्री के साथ पंजाब यूनिवर्सिटी से स्नातक किया। राजेश खुल्लर का जन्म 31 अगस्त 1963 को हुआ। पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से एमएससी फीजिक्स की, 1988 में ये आईएएस बने। हरियाणा के कई जिलों में प्रशासनिक अधिकारी के रूप में कार्यरत रहे। फरवरी 2011 से फरवरी 2015 तक ज्वाइंट सेके्रटरी के पद पर भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ इकोनॉमिक्स अफेयर में कार्यरत रहे। खुल्लर ने 2002-03 में टोक्यो जापान से पब्लिक पॉलिसी में मास्टर्स की। उनके पास जीआरआईपीएस, टोक्यो जापान से मास्टर ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री भी है।

वर्तमान में यह हरियाणा के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव हैं। एचएसआईआईडीसी के भी यह चैयरमैन हैं। खुल्लर ने हरियाणा व केंद्र में विभिन्न अनेक पदों पर कार्य किया है। खुल्लर ज्वाइंट सेक्रेटरी वित्त विभाग (डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक्स एफेयर, मनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस) भी 2011 में रहे हैं। राजेश खुल्लर द्वारा 1994 में बनाई नीति "अपनी बेटी-अपना धन" पूरे भारतवर्ष में अपनाई गई।

खुल्लर ने भ्रूणहत्या के खिलाफ व युवा लड़कियों को पढ़ाया जाए जैसी सामाजिक मुहिम के प्रशासनिक अधिकारी रहने के साथ चलाई। आने वाले जल संकट से सचेत करने के लिए धान की जगह दूसरी खेती करने की भी इन्होंने पैरवी की व किसानों को जागृत करने का प्रयास किया। 2008 में एचआईवी पर इनकी किताब "वायरल मैच" भी आई। राजेश खुललर सहज, सरल, मधुरभाषी व्यक्तित्व के धनी हैं। इनके बारे यह कहा जाता है कि गुस्से में शायद ही कभी किसी ने देखा हो। आज इनकी गिनती सीनियर इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के अधिकारियों में होती है।

खुल्लर को फरवरी 2011 में वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग के संयुक्त सचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। संयुक्त सचिव के रूप में, खुल्लर ने भारत के बुनियादी ढांचे के ऋण कोष और प्रमुख द्विपक्षीय समझौतों की संरचना तैयार की। जून 2013 में, उन्होंने 723 मिलियन डॉलर मूल्य के प्राकृतिक संसाधनों के ऊर्जा, पर्यावरण और प्रबंधन के क्षेत्र में वित्तीय और तकनीकी सहयोग के लिए भारत में तत्कालीन जर्मन राजदूत कॉर्ड मीयर-क्लोड के साथ एक  समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 फरवरी 2014 में, खुल्लर चेन्नई में हॉस्पिटल फॉर चिल्ड्रन फॉर जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (जेआईसीए) द्वारा जेपी मिलियन 1,495 मिलियन निवेश के लिए महत्वपूर्ण कड़ी थे। मार्च 2014 में, उन्होंने भारत और जापान के बीच जेपी 250 बिलियन से अधिक मूल्य के पांच भारतीय शहरों के लिए आधिकारिक विकास सहायता (ओडीए) ऋण समझौते का नेतृत्व किया, जिसमें दिल्ली मेट्रो और पवन और सौर ऊर्जा से संबंधित परियोजनाओं का विस्तार शामिल था।

जापानी दूतावास के अनुसार, यह "जापानी ओडीए के इतिहास में एक महत्वपूर्ण समारोह में हस्ताक्षरित सबसे बड़ी राशि थी।" नवंबर 2015 में, खुल्लर को हरियाणा के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव नियुक्त किया गया था। हरियाणा में, खुल्लर ने एमनियोसेंटेसिस और कन्या भ्रूण हत्या की जांच करने, टीकाकरण और युवा लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने, और अपणी बेटी, अपना धन (एबीएडी), या "हमारी बेटी, हमारा धन" नाम से लड़कियों की जल्दी शादी करने के लिए योजना बनाई। 

उन्होंने नई पाठ्यपुस्तकों को लिखने में सरकारी प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों को शामिल किया, किसानों को धान न उगाने के लिए पानी के संरक्षण के लिए प्रेरित किया और गुडग़ांव और फरीदाबाद के शहरों को आवारा पशु मुक्त बनाने में मदद की। गुडग़ांव नगर आयुक्त के रूप में, खुल्लर ने नागरिक समाज के साथ एक साझेदारी बनाने की दिशा में कदम उठाया और ई-गवर्नेंस उपकरणों के उपयोग पर जोर दिया। उन्होंने कार्टरपुरी में कामधेनुधाम और नंदीधाम गाय शेड की स्थापना की और अरावली बायोडायवर्सिटी पार्क, गुडग़ांव को 250 एकड़ से अधिक भूमि पर विकसित किया, जबकि इसे अतिक्रमणकारियों और भू-माफिया से सुरक्षित रखा। 

खुल्लर एचआईवी पर भारत के पहले मेडिकल थ्रिलर ''वायरल मैच'' के लेखक भी हैं। यह पुस्तक भारतीय क्रिकेट टीम द्वारा 8 दिसंबर 2007 को पाकिस्तान और भारत के बीच बैंगलोर टेस्ट मैच के दौरान लॉन्च की गई थी। सितंबर 2019 में, एशिया पोस्ट, फेम इंडिया और पीएसयू वॉच द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण में खुल्लर को भारत के शीर्ष नौकरशाहों में से एक नामित किया गया था। 
2009 में, उन्हें भारत सरकार द्वारा भारत के पहले व्यापक सामाजिक सुरक्षा छाता को डिजाइन करने और लागू करने के लिए जवाहर लाल नेहरू शहरी नवीकरण मिशन के तहत उत्कृष्टता पुरस्कार प्राप्त हुआ जिसमें बीमा, बचत खाते, सार्वजनिक सुविधाएं और रैन बसेरे शामिल थे।

मनोहर सरकार के प्रधान सचिव के रूप में
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की भरोसेमंद टीम में सबसे विश्वासपात्र हरियाणा सरकार में प्रिंसिपल सेक्रेटरी राजेश खुल्लर सीएमओ के सभी कार्यों, सभी चैयरमैनों, विधायकों व मंत्रियों को बखूबी पूरा मान-सम्मान देने व प्रशासनिक कार्यों में दक्षता का उनका अंदाज उनकी बेहतरीन कार्यशैली का हिस्सा है। 

कई बार विकट स्थितियों में उनके द्वारा लिए गए निर्णयों से सरकार को बड़ी राहत भी मिली है। लोक संपर्क विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी के रूप में इनकी मनोहर सरकार में यह तीसरी पारी है। मनोहरलाल सरकार पार्ट वन में भी 2 बार यह इसी पद पर थे। जिसका अहम कारण है मीडिया के सभी वर्गों,संगठनों,पत्रकारों, संस्थानों से इनका जबदस्त सामंजस्य। खुललर पहले लोक संपर्क विभाग में महानिदेशक के पद पर भी कई बार रह चुके हैं। 


Shivam

Related News