कृषि क्षेत्र में हरियाणा से बेहतर नीति कहीं नहीं: जेपी दलाल

punjabkesari.in Sunday, May 15, 2022 - 10:28 AM (IST)

गुडग़ांव (ब्यूरो) : हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि आज प्रदेश सरकार कृषि से जुड़ी अपनी बेहतर नीतियों के माध्यम से किसानों की आय बढ़ाने व उनके उत्थान के लिए निरंतर कार्य कर रही है। प्रदेश के किसान भाइयों को यदि किसी अन्य प्रदेश की कृषि नीति हमसे बेहतर लगती है तो वे प्रदेश सरकार को बताएं हम उसे हरियाणा में लागू कर देंगे। वे आज ब्रह्माकुमारी संस्थान के कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग तथा प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा आयोजित आत्मनिर्भर किसान अभियान के उद्धघाटन समारोह (दिल्ली जोन) में बतौर मुख्याथिति संबोधित कर रहे थे।

आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रमों की श्रृंखला व भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से इस कार्यक्रम का आयोजन गुरुग्राम के भोड़ा कलाँ स्थित ओम् शांति रिट्रीट सेंटर में किया गया था। कृषि मंत्री ने उद्धघाटन समारोह में दीप प्रज्वलित करने उपरान्त अपने संबोधन में कहा कि आज प्रदेश में किसानों की इच्छा व उनके सुझावों के आधार पर किसानों के उत्थान के लिए बेहतर नीतियों का निर्माण किया जा रहा है। महात्मा गांधी ने कहा था कि भारत की आत्मा भारत के गांवों में बसती है। आज प्रदेश की वर्तमान सरकार महात्मा गांधी की इस सोच से प्रेरणा लेकर गांवों व किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में पूर्णत: अग्रसर है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर आज हरियाणा व देश में कृषि क्षेत्र में बदलाव का दौर जारी है।

आज हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नीति निर्देशन के चलते किसानों की खेती पूर्णत: जोखिम मुक्त है। आज प्रदेश में किसानों को फसल बेचने के लिए बेहतर बाजार उपलब्ध कराएजा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने किसानों से रसायन मुक्त खेती का आह्वान करते हुए कहा कि रासायनिक खेती हमारी भूमि की उत्पादन क्षमता व उत्पादन की गुणवत्ता दोनों को प्रभावित करने के साथ ही हमारी सेहत को भी प्रभावित करती है। ऐसे में प्रदेश सरकार का लक्ष्य है कि दूषित उत्पादन के कारण जो मानवता का शोषण हो रहा है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static