कल्पना चावला मेडिकल कालेज में अब हर रोज होंगे 40 से 50 ऑपरेशन , लम्बी वेटिंग लिस्ट होगी खत्म

punjabkesari.in Tuesday, May 17, 2022 - 09:30 AM (IST)

ब्यूरो: मजबूरी में प्राइवेट अस्पतालों में महंगे रेट में ऑप्रेशन कराने से लोगों को राहत मिलेगी। कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज का आॅप्रेशन थियेटर दो शिफ्टों में चलेगा। मेडिकल कॉलेज के 11 ऑप्रेशन थियेटर में लगातार 11 घंटे तक ऑप्रेशन होंगे। दो शिफ्टों में आॅप्रेशन थियेटर शुरू होने से प्रतिदिन 20-25 ऑप्रेशन की जगह 40 से 50 मरीजों के आॅप्रेशन जा सकेंगे। मरीजों को 30 से 40 दिनों की वेटिंग का दर्द नहीं झेलना पड़ेगा। मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च हरियाणा की प्रिंसिपल सेक्रेटरी जी अनुपमा के निर्देश पर मेडिकल काॅलेज प्रशासन ऑप्रेशन थियेटर को दो शिफ्टों में चलाने की तैयारियों में है। सब कुछ ठीक रहा तो जून माह से प्रदेश के मरीजों को दो शिफ्टों में ऑप्रेशन की सुविधा प्राप्त होगी।

 

ऑप्रेशन की पहली शिफ्ट 9 से 3 व दूसरी शिफ्ट 3 से रात 8 बजे तक चलेगी
मेडिकल काॅलेज में जून माह से दो शिफ्टों में ऑप्रेशन थियेटर चलेगा। पहली शिफ्ट में 9 से 3 बजे तक और दूसरी शिफ्ट में शाम ने 3 बजे से रात 8 बजे तक आॅप्रेशन होंगे। इससे मेडिकल कॉलेज में प्रतिदिन आॅप्रेशन करने की क्षमता दो गुणा हो जाएगी। 12 घंटे तक ऑप्रेशन थियेटर ऑन रहने से मरीजों को बड़ा लाभ मिलेगा। 

 

ट्रामा सेंटर से रेफर मरीजों के ऑप्रेरशन में नहीं होगी देरी
मेडिकल कॉलेज में दो शिफ्टाें में ऑप्रेशन शुरू होने से ट्रामा सेंटर से रेफर होकर आने वाले दुर्घटनाग्रस्त मरीजों के ऑपरेशन में देरी नहीं हो सकेगी। इसके अलावा जनरल सर्जरी के मरीजों को समय पर सर्जरी उपचार मिल सकेगा। 

 

जरूरत के उपकरणों को मंगवाया जाएगा
मेडिकल कॉलेज के ऑप्रेशन थियेटर में दाे शिफ्टों में ऑप्रेशन किए जाने से जिन उपकरणों की और जरूरत होगी उनको मंगवा लिया जाएगा। इसके अलावा इसी हिसाब से डॉक्टरों की ड्यूटी की व्यवस्था की जाएगी। किसी दिन कौन डॉक्टर क्लास लेगा, कौन ओपीडी में बैठेगा और कौन ऑप्रेशन थियेटर में रहेगा। डॉक्टरों के अवकाश व ड्यूटी टाइम इत्यादि का अलग से शेड्यूल तैयार हेगा। 

 

वेटिंग का संकट हटेगा, समय पर मिलेगा इलाज
मेडिकल कॉलेज में ऑप्रेशन की जरूरत वाले मरीजों को वेटिंग का संकट झेलना पड़ता है। वेटिंग 15 से 30 से 40 दिनों तक भी हो जाती है। ऐसी स्थिति में कई मरीजों की हालात के चलते परिजन प्राइवेट अस्पतालाें में मजबूरन ऑपरेशन कराते हैं, जहां पर उनको मोटी रकम का भुगतान करना पड़ता है। 

 

इमरजेंसी मरीजों को सैकेंड शिफ्ट का मिलेगा लाभ 
मेडिकल कॉलेज में ऑप्रेशन थियरेटर की दूसरी शिफ्ट का इमरजेंसी के मरीजों को विशेष लाभ मिलेगा। दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल मरीजों का ऑप्रेशन हो सकेगा। क्योंकि मौके पर डॉक्टराें की उपलब्धि मरीजों की जान बचाने में अहम रहेगी। कॉलेज में आॅप्रेशन में प्रयोग होने वाले उपकरण प्रचूर मात्रा में उपलबध हैं। 

 

जनरल सर्जरी से लेकर ब्रेन तक के ऑप्रेशन
मेडिकल कॉलेज में जनरल सर्जरी से लेकर ब्रेन ऑप्रेशन तक के डॉक्टर मौजूद हैं। यहां पर 98 डाक्टर्स की फैकल्टी है। सर्जरी की बात करें तो जनरल सर्जरी में पांच सीनियर सर्जन, 2 आई सर्जन, 2 ईएनटी और पांच गायनी के डॉक्टर हैं। इनके साथ ही 12 डाक्टर्स एनेस्थियां के हैं। 

 

मेडिकल कॉलेज में हर दिन 2500 मरीजों की ओपीडी
मेडिकल कॉलेज में हर दिन तकरीबन 2500 मरीजों की आेपीडी होती हैं, जिनमें दर्जनों लोग किसी न किसी आॅप्रेशन की जरूरत वाले निकल जाते हैं। सबसे ज्यादा मरीज आंख, गायनी व हड्‌डी रोग वाले होते हैं। प्राइवेट अस्पतालों के रेट मुंह मांगे हो गए हैं। जहां हर किसी के लिए ईलाज करना बस की बात नहीं रही है। इसलिए लोगों का मेडिकल कॉलेज की ओर रुझान बढ़ा है।कल्पना चावला राजकीय मेडिकल काॅलेज में अब दो शिफ्टों में आॅप्रेशन थियेटर चलाया जाएगा। मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च हरियाणा की प्रिंसिपल सेक्रेटरी जी अनुपमा के निर्देश पर ऑप्रेशन थियेटर को दो शिफ्टों में चलाने की तैयारियां चल रही हैं। जून माह से ऑप्रेशन थियेटर में दो शिफ्टों में ऑप्रेशन हो सकेंगे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static