हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर गृहमंत्री का बड़ा बयान, बोले- कुछ सख्तियां तो करनी पड़ेगी

4/6/2021 10:17:45 AM

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी):  कोरोना की पहली वेब में हरियाणा की परफॉर्मेंस दूसरे प्रदेशों के मुकाबले काफी बेहतर रही थी। दिल्ली की सीमाएं तीन तरफ से हरियाणा के जिलों से लगने के कारण यहां कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका अधिक थी। लेकिन समय रहते स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री द्वारा लिए गए सख्त फैसलों के चलते यहां स्थिति कंट्रोल में रही। अब फिर से कोरोना पांव पसार आ रहा है। जिसे लेकर हरियाणा के संबंधित विभाग पूरी तरह से अलर्ट मोड पर हैं। हरियाणा स्वास्थ्य एवं गृह विभाग के मंत्री जो कि अपने सख्त, बेबाक और न्याय प्रिय अंदाज़ के लिए न केवल प्रदेश बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध है।

उनसे आज पंजाब केसरी ने विशेष बातचीत की। जिसमें उन्होंने बताया कि कल ही उन्होंने सभी जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों को बैठक के लिए बुलाया है। जिसमें कोरोना को कंट्रोल करने की तैयारियों को लेकर रूपरेखा तैयार की जाएगी। उन्होंने बताया कि कोरोना की दूसरी वेब आने से पहले भी स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से चाक-चौबंद था। रोजाना 30 हजार के करीब कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं और इसे और भी बढ़ाया जा सकता है। साथ ही उन्होंने बताया कि प्रदेश में 18 लाख लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है और इस महीने के अंत तक 30 से 40 लाख लोगों को वैक्सीन दे दी जाएगी।

गृह मंत्री अनिल विज ने प्रदेश के ला एंड ऑर्डर को लेकर बताया कि पिछले हफ्ते सभी पुलिस के आला अधिकारियों, जिलों के एसपी, कमिश्नरस व उपायुक्तों की बैठक उन्होंने ली थी और कई गाइडलाइन इन्हें दी गई हैं। साथ ही साथ उन्होंने छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले पर भी कड़ी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि ऐसे आंदोलनों को कुचलना जरूरी है। विज ने और भी कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। जिसके कुछ अंश आपके सामने प्रस्तुत हैं:-

प्रश्न:- हरियाणा में कोरोना के केस तूफानी रफ्तार से बढ़ रहे हैं। क्या आने वाले दिनों में प्रदेश में लोकडाउन या कोई और सख्त कदम उठाया जा सकता है ?
उत्तर:-
अभी हमने लोकडाउन के बारे में सोचा नहीं है। पर हमें कुछ सख्तियां तो करनी ही पड़ेगी और हमने की भी हैं जैसे गैदरिंग के ऊपर हमने कहा है कि इंनडोर में 200 से अधिक और आउटडोर में 500 से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। हमने उसकी नोटिफिकेशन जारी की है और अगर हमें और भी कुछ नियम बनाने पड़ेंगे तो हम बनाएंगे।

प्रश्न:- क्या प्रदेश में टेस्टिंग प्रॉपर हो रही है और क्या आने वाले दिनों में और बढ़ाई जा सकती है ?
उत्तर:-
हमारी लगभग 30 हजार की टेस्टिंग रोजाना हो रही है। जोकि बहुत अच्छा ग्राफ है। हम इसे और भी बढ़ा सकते हैं। जब पहले कोरोना की शुरुआत हुई तो प्रदेश में एक भी लैब नहीं थी जो कि हमने हरियाणा में 18 लैब्स लगा दी हैं। टेस्टिंग में हमें कोई प्रॉब्लम नहीं है।

प्रश्न:- क्या वैक्सीन की रफ्तार भी बढ़ाई जा सकती है और आज वैक्सीनेशन की क्या एवरेज है ?
उत्तर:-
आज की तारीख तक 18 लाख लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। जो कि अपने आप में बहुत बड़ा फिगर है। 45 साल से ऊपर तक के लोगों की संख्या 60 लाख के करीब है और हमें उम्मीद है कि इस महीने में हम 30 से 40 लाख लोगों को वैक्सीन लगा देंगे।

प्रश्न:- कोरोना के पहले राउंड में लोकडाउन के वक्त आपके नेतृत्व में हरियाणा ने बहुत अच्छे से निपटा।इस बार निपटने की क्या तैयारियां हैं ?
उत्तर:-
स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों ने बहुत बहादुरी के साथ कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी। हरियाणा में काफी हद तक हम कोरोना को नियंत्रण में रखने में हम कामयाब रहे। अब हमारे पास 1 साल का अतिरिक्त अनुभव है। हम पूरी तरह से अपनी मशीनरी को गेयर अप कर रहे हैं ताकि बेहतर तरीके से काम किया जा सके।


प्रश्न:- नक्सली हमलों में काफी बढ़ोतरी हुई है। प्रदेश के गृह मंत्री होने के नाते आप की क्या टिप्पणी है ?
उत्तर:-
किसी प्रजातांत्रिक देश में इस प्रकार के आंदोलनों की इजाजत नहीं दी जा सकती और ऐसे आंदोलनों को कुचलना जरूरी है।

प्रश्न:- क्या किसान आंदोलन में किसानों के भेस में नक्सली घुसकर किसी प्रकार का तनाव या हिंसा पैदा कर सकते हैं ?
उत्तर:-
यह तो प्योरली किसानों का आंदोलन है। यदा-कदा अगर कोई आदमी आ जाता है तो उससे सारे आंदोलन को आप नेम नहीं कर सकते।

प्रश्न:- नक्सली हरियाणा में न घुसपैठ कर पाए उसके लिए आपने क्या कोई गाइडलाइन जारी की है ?
उत्तर:-
हमारा पुलिस विभाग और सीआईडी विभाग इस मामले में पूरी तरह से चौकस है।

प्रश्न:- कांग्रेस हरियाणा के ला एंड आर्डर पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है ?
उत्तर:-
कांग्रेस के राज में एफआईआर दर्ज करवाने के लिए महिला को डीजीपी के दफ्तर के बाहर आकर आत्मदाह करना पड़ा था। कांग्रेस को तो बोलने का अधिकार ही नहीं है। कोई एक केस बता दो जिसमें पुलिस ने कार्रवाई न की हो। पूरी तरह से सारा पुलिस प्रशासन कानून व्यवस्था को ठीक करने में लगा हुआ है। अभी मैंने पिछले हफ्ते सारे पुलिस अधिकारियों, सारे पुलिस अधीक्षकों, उपायुक्तों, कमिश्नरस मीटिंग ली और हिदायत दी कि मैं बिल्कुल क्राइम फ्री स्टेट चाहता हूं और उसके लिए हमने काफी उपाय भी उन्हें बताए हैं। लोगों की ग्रीवेंसिस सुने हर दिन 12 से 1 बजे हर पुलिस अधीक्षक ग्रीवेंसिस सुने। पुलिस अधीक्षक अपने दफ्तरों से बाहर निकले। जाकर थानों को चेक करें। हफ्ते में हर पुलिस अधीक्षक कम से कम एक थाने को चेक करें और भी कई गाइडलाइन हमने दी हैं और हम इस मामले में पूरी तरह से गंभीर हैं।

प्रश्न:- डायल 112 आपका ड्रीम प्रोजेक्ट है। इस पर आपने बहुत काम भी किया और सख्ती भी की। वह कब तक पाइपलाइन से बाहर निकलकर सार्वजनिक हो पाएगा ?
उत्तर:-
उसके लिए सब कुछ तैयार हो गया है। बिल्डिंग बन गई है। स्टाफ रख लिया है। गाड़ियां आ गई है। गाड़ियों में एक्यूमेंट फिट हो रहे हैं और हमें उम्मीद है कि अप्रैल के महीने में हम इसे चालू कर देंगे।

प्रश्न:- हरियाणा में नशे को रोकने के लिए आपने नारकोटिक्स क्राइम ब्यूरो का गठन किया। उसमें व्यापक सुधार कब तक होने की उम्मीद है ?
उत्तर:-
जिस दिन मैंने बतौर गृहमंत्री पदभार संभाला पहले ही दिन मैंने कहा था कि हम नशे पर कंट्रोल करेंगे और इसके लिए अलग विभाग बनाएंगे। मैंने नारकोटिक्स ब्यूरो बनाया। उसकी थोड़ी कंडीशनली टीचिंग प्रॉब्लम है। उनको हम दूर करने की कोशिश कर रहे हैं और आप देखेंगे कि बहुत अच्छा काम होगा।

प्रश्न:- आपके पास ग्रह, निकाय, स्वास्थ्य व टेक्निकल एजुकेशन सभी बड़े विभाग हैं और इनमें कई पोस्ट रिक्त हैं। क्या इसके लिए आपने एचपीएससी-एचएसएससी को प्रपोजल भिजवाई है ?
उत्तर:-
मैं इसके बारे में बहुत पर्टिकुलर हूं। क्योंकि उसके लिए प्रोसेस तो एचपीएससी और एचएसएससी बोर्ड ने करना है। वह कितना समय ले यह उनके ऊपर बात है। लेकिन हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश करते रहते हैं और लगभग पुलिस में 7000 सिपाहियों की भर्ती होने जा रही है।

प्रश्न:- संपत्ति क्षति विधेयक को लेकर कांग्रेस विधानसभा में काफी विरोध करती रही और बाहर भी विरोध कर रही है ?
उत्तर:-
मैंने तो कांग्रेस से विधानसभा में भी पूछा था कि आप आग लगाने वालों के साथ हैं या उनके खिलाफ हैं। आप गाड़ी जलाने वालों के साथ हैं या उनके खिलाफ है। अब रेलवे स्टेशन फेंकने वालों के साथ हैं या उनके खिलाफ हैं। हमने तो यह बिल उनके खिलाफ बनाया है जो संपत्तियों का नुकसान करते हैं। उससे कांग्रेस को क्या तकलीफ है या तो कांग्रेस कहे कि हम तो आग लगाना चाहते हैं। हम तो आग लगाने वालों का समर्थन करना चाहते हैं।

प्रश्न:- लव जेहाद का कानून बनाने की तैयारी थी।उसमें क्या अड़चन रही ?
उत्तर:-
उसमें थोड़ी टेक्निकल प्रॉब्लम आ रही थी। वह दूर कर ली गई है। जल्द ही हम उसका ऑर्डिनेंस लाएंगे।

प्रश्न:- हरियाणा में ब्लड डोनेशन में गोरखधंधे चलने की चर्चाएं हैं। क्या इन चीजों पर आपकी नजर है ?
उत्तर:-
आज ही मैंने किसी सोशल मीडिया ग्रुप में पड़ा है कि ऐसा काम हो रहा है। मैं इसकी पूरी तरह से जांच करवाउँगा। इस प्रकार का गोरखधंधा मेरे विभाग में तो नहीं हो सकता।

प्रश्न-महाराष्ट्र में देशमुख के इस्तीफे पर क्या कहेंगे?
उत्तर--
अनिल देशमुख के इस्तीफे का विलम्ब से होना साबित करता है ,क्या सब कुछ ठीक करने के लिए गृह मंत्री को दिया गया इतना समय ?उनका इस्तीफा मामला उजागर होते ही आ जाना चाहिए था'।देखमुख को इतना समय इसलिए दिया गया ताकि वह अपना सब कुछ ठीक कर सके'। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने सही से नहीं निभाया अपना दायित्व ।

प्रश्न-किसान जो कार्यक्रमों में बाधा पैदा कर रहे हैं?
उत्तर--
किसानोंं को विरोध प्रदर्शन करने का अधिकार हैं 'हमारे पुतले जलाए लेकिन किसी के कार्यक्रम में विघ्न डालने की इज्जाजत नहीं' है।

प्रश्न-पुलिस की व्यवस्था चुस्त,दरुस्त करने के लिए क्या किया जा रहा है?
उत्तर--
सीमित समय तक दर्ज FIR पर काम होना चाहिए। सभी एस पी को हफ्ते में कम से कम एक थाने का निराक्षण करने के आदेश दिए गए हैं।

प्रश्न:- आखिर में फिर से मुख्य सवाल कि कोरोना रोकने का आपका क्या एक्शन प्लान है ?
उत्तर:-
कोविड को नियंत्रित करने को लेकर रूपरेखा तैयार करने के लिए मैंने कल सारे अधिकारियों की मीटिंग बुलाई है। हमें क्या-क्या करना है पिछली बार जब फैला था तो हमने क्या-क्या किया था और इस बार नया क्या-क्या करने की जरूरत है कल हम पूरी तरह से इसे प्लैंनड कर लेंगे कि क्या-क्या हमें करना है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 


Content Writer

Isha

Related News