12 साल पहले घर में मिले पुराने सिक्के, फिर चढ़ा ऐसा जुनून कि रिकार्ड बना डाला

1/17/2020 11:42:14 PM

फरीदाबाद (अनिल राठी): छेद वाले सिक्के, घोड़े वाले सिक्के, आना, दो आना, पाई, आधा-पौना आदि के सिक्के आप भूल चुके होंगे और टेंपल टोकन का तो आपने नाम भी नहीं सुना होगा, लेकिन फरीदाबाद में एक दंपति ऐसा भी है जो इस तरह के सिक्कों का संग्रह कर आने वाली पीढ़ी के लिए इन्हें संजोकर रखे हुए हैं। इस तरह के सिक्के संभालने का बीड़ा सेक्टर-16 निवासी सतीश सिंघल और उनकी पत्नी वंदना ने उठाया है। 

आलोचनाओं की परवाह नहीं की


12 साल पहले सतीश को पुराने सिक्के एकत्र करने का जुनून सवार हुआ। शुरुआत में सतीश को इस काम को करने में घर वालों की आलोचना भी झेलनी पड़ी, लेकिन उन्होंने आलोचना की परवाह नहीं की और अपने काम में लगे रहे। सतीश हर किसी नोट और सिक्के पर उसका सन और नंबर अवश्य देखते और उसे अपने पास संभाल कर रख लेते हैं। वह किसी भी व्यक्ति के पास कोई पुराना सिक्का या नोट देखते हैं तो उससे वह रुपए लेकर बदले में दूसरा नोट दे देते हैं।

लिम्का बुक में दर्ज कराया नाम
PunjabKesari, Haryana


पुराने सिक्के और नोटों के संग्रह ने सतीश का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज करा दिया। सतीश सिंघल ने बताया कि 12 साल पहले घर शिफ्ट करने के दौरान ओल्ड फरीदाबाद के पुराने मकान में काफी पुराने सिक्के मिले थे, जो उनके पिता और दादा में इक_ा किए थे। उनमें पुराने समय के पाई और चांदी के 50-100 रूपये के सिक्के देखकर उन्हें लगा कि आने वाली पीढ़ी को विरासत के रूप में दी जा सकती है, ताकि देश का गौरव युवाओं को पता चल सके। उस समय के चांदी के 100 रूपये की कीमत के भी सिक्के हैं। सतीश का कहना है कि अब यह शौक धीरे-धीरे उनके बच्चों को भी हो गया है।

सतीश सिंघल की उपलब्धि-
PunjabKesari, Haryana

2014 में पहली बार लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में 20 पैसे के 19 प्रकार के सिक्के और 2 रूपये के 43 तरह के सिक्कों को मान्यता दी गई। लेकिन अब उनके पास 2 रूपये के 49 प्रकार के सिक्के हैं। 2014 में ही इंडिया बुक रिकॉर्ड में 5 रूपये के 51 सिक्के और 2 के 44 तरह के संग्रह को सम्मिलित किया गया। सतीश के पास इस समय 5 रूपये के 68 प्रकार के सिक्के हैं।

PunjabKesari, Haryana

50 पैसे के सिक्कों को 14 मई 2015 में इंडिया बुक रिकॉर्ड और 30 जून 2015 को लिम्का बुक रिकॉर्ड में सात प्रकार के सिक्कों के रिकॉर्ड को सतीश की पत्नी वंदना गुप्ता ने अपने नाम किया। अब यह रिकॉर्ड 61 सिक्कों का है। वहीं 25 पैसे के सिक्कों का रिकॉर्ड 14 मई 2015 में इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड और लिम्का बुक रिकॉर्ड में 50 प्रकार के सिक्कों का है। दंपति को वल्र्ड रिकॉर्ड होल्डर स्टेज कार्यक्रम में नेशनल रिकॉर्ड होल्डर के अवार्ड से सम्मानित किया गया है। 

PunjabKesari, haryana


सतीश के पास पाई से लेकर ₹100 तक के सिक्के हैं। 786 सीरीज के विभिन्न तरह के नोट है। एक पैसे के 20 तरह के सिक्के भी उनके पास हैं, दो पैसे के भी 20 तरह के सिक्के हैं। 3 पैसे के सिक्के हैं, 5 पैसे के 48 सिक्के हैं।

PunjabKesari, Haryana

48 देशों के सिक्के भी किए हैं जमा-
सतीश सिंह के पास 48 देशों के सिक्के भी उपलब्ध है। उनका कहना है कि व्यवसाय के सिलसिले में विदेश में जाते हैं, जिस कारण उन्हें बांग्लादेश, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड, देशों के सिक्के एकत्र करने का मौका मिला। अब तक सतीश सिंघल 11 बार लिम्का बुक में रिकॉर्ड दर्ज करवा चुके हैं, जबकि चार रिकॉर्ड अभी और दर्ज होने हैं।

PunjabKesari, Haryana


Shivam

Related News