चढूनी की सरकार को चेतावनी, 29 अक्टूबर को या तो उन्हें गोली मार दे वर्ना...

punjabkesari.in Saturday, Oct 17, 2020 - 08:34 PM (IST)

कुरुक्षेत्र (रणदीप): भाजपा की ट्रैक्टर रैली में हुई बीजेपी नेता की मौत और उसके बाद दर्ज हुए हत्या के मुकद्दमे को लेकर सियासत गर्मा गई है। समर्थकों पर एफआईआर दर्ज होने पर भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी प्रदेश सरकार पर आक्रामक हो गए हैं। चढूनी ने कहा कि नारायणगढ़ के अंदर उनके कार्यकर्ताओं के ऊपर सरेआम हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि अगर यह मुकदमा रद्द नहीं किए गए तो 29 अक्टूबर को बड़ा आंदोलन हो सकता है, इस आंदोलन में महिलाएं भी भाग लेंगी।

PunjabKesari, haryana

चढ़ूनी ने कहा कि 29 अक्टूबर को या तो सरकार उन्हें गोली मार दे वर्ना उन पर दर्ज मुकदमे रद्द कर दे। 29 अक्टूबर को किसान वापस अपने घरों को नहीं जाएंगे। अंबाला की अनाज मंडी में यह बड़ा आंदोलन होने जा रहा है।

आज भारतीय किसान यूनियन की राज्य स्तरीय बैठक कुरुक्षेत्र की कंबोज धर्मशाला में प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी की अगुवाई में हुई। इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। युनियन द्वारा दशहरे वाले दिन यानि 25 अक्टूबर को प्रदेश भर में मोदी के पुतले फूंके जाएंगे। इसके बाद नारायणगढ़ में समर्थकों पर दर्ज केस को लेकर 29 अक्टूबर को मोहड़ा जिला अंबाला में राज्य स्तरीय भारतीय किसान यूनियन की रैली होगी। ताकि जो केस दर्ज किए हैं वह रद्द किए जाएं। इसके साथ 5 नवंबर को देश भर में सुबह 10:00 बजे से 4:00 बजे तक नेशनल हाईवे जाम किए जाएंगे। टोल टैक्स प्रदेश भर में जहां-जहां हैं, वहां पर किसान इकट्ठे होकर रोड जाम करेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

vinod kumar

Related News

Recommended News

static