अनाज मंडी में अधिकारियों के दावों की निकली हवा, खुले में पड़ी धान की फसल भीगी

10/18/2021 5:34:32 PM

सोनीपत (पवन राठी): सोनीपत की अनाज मंडी में एक बार फिर अधिकारियों के दावों की हवा निकलती दिखाई दी है। अधिकारी दावे करते हैं कि मंडी में सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई है, लेकिन हल्की ही बारिश ने अधिकारियों के दावों की पोल खोल दी है। मंडी में जितनी भी धान की फसल खुले में डाली गई है, वह बारिश के पानी के कारण भीग गई। सभी ढेरियों के चारों तरफ पानी ही पानी है। हालांकि कुछ ढेरियों को ढका जरूर गया है, लेकिन खुले में पड़ी हुई ढेरिया भीगी हुई हैं।   अधिकारियों ने लापरवाह आढ़तियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।

अन्नदाता अपनी 6 महीने की मेहनत लेकर मंडी पहुंचता है। उसका सपना होता है कि इस फसल को बेचने के बाद वह अपनी बुनियादी सुविधाएं पूरी करेगा, लेकिन मंडी में पहुंचने के बाद भी अन्नदाता के हाथ निराशा ही लगती है। सही व्यवस्था ना होने से किसानों की फसल खुले में पड़ी रहती है और फिर जब बारिश होती है तो वह भीग जाती है।

इस पर जब मंडी सचिव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मंडी में धान की ढेरिया आने के बाद ढकने की जिम्मेवारी आढ़तियों को दी गई है। उन्होंने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है, अगर ऐसा कुछ हुआ है तो वह इस बारे में पता करेंगे और अगर किसी कर्मचारी या आढ़ती की लापरवाही मिलती है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static