100 सालों के बाद हिमाचल में होने वाले पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन की तैयारियां पूरी

punjabkesari.in Thursday, Nov 11, 2021 - 02:25 PM (IST)

चंडीगढ़( चंद्रशेखर धरणी): पड़ोसी पर्वतीय राज्य हिमाचल प्रदेश में 16-17 और 18 तारीख को 3 दिन तक राष्ट्र के पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन का आयोजन होगा। जिसमें पूरे देश के पीठासीन अधिकारी विधानसभा अध्यक्ष, विधानसभा उपाध्यक्ष और विधान सभा सेक्रेट्री इत्यादि विधानसभाओं की कार्यवाही और विधानसभा में किस प्रकार से और अच्छे बदलाव की संभावनाएं हैं उस पर चर्चा करेंगे।

इस महत्वपूर्ण सम्मेलन की जानकारी देते हुए हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने बताया कि इससे पहले शिमला में 100 साल पहले 1921 में इस तरह के सम्मेलन का आयोजन हुआ था। 100 साल पुराने सम्मेलन की झलकियां भी इसमें देखने को मिलेंगी। साथ ही इन 10 दशकों में हमारा लोकतंत्र और हमारा देश किस प्रकार से मजबूत हुआ यह देखने को भी मिलेगा। गुप्ता ने बताया कि हर वर्ष किसी ना किसी प्रदेश में इस प्रकार का आयोजन किया जाता है। जिसमें कुछ रेजुलेशन भी पास किए जाते हैं। ताकि सभी विधानसभाओं में समान रूप से उनकी पालना हो सके। यह एक महत्वपूर्ण सम्मेलन होता है और इस पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के भी जुड़ने की अपेक्षा है। इसलिए यह आयोजन काफी महत्वपूर्ण हो गया है।

गुप्ता ने बताया कि हरियाणा विधानसभा में विशेष सत्र भी बुलाने की हमारी तैयारी है। जिसके लिए देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है और उनके द्वारा ही इसकी शुरुआत की जाएगी। आजादी के 75 साल पूरे होने पर इसे एक महोत्सव के उपलक्ष में आयोजित किया जा रहा है। इस दृष्टि से यह एक महत्वपूर्ण सम्मेलन रहेगा। लेकिन इसमें कोई विधाई कार्य नहीं होगा। साथ ही हम शीतकालीन सत्र बुलाने को लेकर पूरी तैयारी कर चुके हैं। उचित प्रबंध विधानसभा में कर लिए गए हैं। सरकार द्वारा तिथि निर्धारित होते ही हम शीतकालीन सत्र आयोजित करने में सक्षम है।

गुप्ता ने कहा कि ई-विधान सभा को लेकर हमने हाल ही में तीन- चार महत्वपूर्ण बैठकें की हैं। जिसमें सभी अधिकारी शामिल रहे तथा मिनिस्ट्री ऑफ पार्लियामेंट्री अफेयर्स के साथ भी एमओयू साइन हो चुके हैं। हरियाणा सरकार की तरफ से हमें सभी फंड्स भी मिल चुके हैं।क्योंकि हमारी विधान सभा में स्थान की काफी कमी है। लेकिन ई विधान सभा को अच्छे ढंग से चलाने तथा उसमें ट्रेनिंग लेने वाले अधिकारियों, विधायकों और कर्मचारियों के लिए ठीक ढंग से व्यवस्था को लेकर एक विशेष कमरा हमने तैयार किया है और पूर्णतः ई विधानसभा के बाद बहुत से सुधार इसमें देखने को मिलेंगे। मैंने लगातार तीन बार सुबह कर्मचारी, अधिकारियों की हाजिरी को भी हाल ही में चेक किया है। जो भी लोग लगातार तीन बार गैरहाजिर यानि देर से आने वाले पाए गए हैं उनके खिलाफ भी मैंने रूल्स के मुताबिक कार्यवाही के आदेश दिए हैं। मैं किसी भी तरह से ऐसे लोगों को बख्शने के मूड में नहीं हूं।

 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static