सोने के व्यापारी को चालाकी करनी पड़ी महंगी, पुलिस को 15 लाख लूट की दी झूठी शिकायत, पर..?

punjabkesari.in Friday, May 20, 2022 - 09:00 AM (IST)

रोहतक(दीपक): रोहतक शहर के छोटू राम चौक पर ज्वेलर्स से 15 लाख रुपए लूटने तथा 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगने का मामला झूठा निकला है। इस मामले में पुलिस ने लूट की अफवाह फैलाने वाले ज्वेलर्स के खिलाफ मामला दर्ज कर हिरासत में ले लिया है। असली मामला रोड रेज का है उसी के चलते ज्वेलर्स ने यह झूठी अफवाह फैलाई थी।

दरअसल, रोहतक शहर के छोटू राम चौक पर ज्वेलर्स अनिल वर्मा ने 15 लाख रुपए की लूट और 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगने की सूचना दी थी। जिस पर रोहतक शहर में पुलिस की टीमें हरकत में आ गई, मौके पर पहुंचकर सारे मामले की जांच की। इस दौरान शिकायतकर्ता अनिल वर्मा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए रात को बड़ा ड्रामा किया और रोड जाम तक कर दिया था। लेकिन जांच करने के बाद पता चला कि लूट और रंगदारी मांगने जैसा कोई भी मामला यहां पर नहीं हुआ है और आखिर पुलिस ने इस मामले में शिकायतकर्ता अनिल वर्मा के खिलाफ झूठी सूचना देने, पुलिस के काम में बाधा डालने तथा रोड जाम करने जैसी धाराओं में मामला दर्ज कर हिरासत में ले लिया है।

इस मामले में एएसपी कृष्ण कुमार ने बताया कि जैसे ही पुलिस कंट्रोल रूम को इसकी सूचना मिली थी पूरी जिले की पुलिस की टीमें हरकत में आ गई और तुरंत मौके पर पहुंचकर सारे मामले की जांच पड़ताल की जांच पड़ताल में सामने आया है कि शिकायत देने वाला अनिल वर्मा गाड़ी लेकर जा रहा था, तो उसी दौरान कुछ स्कूटी सवार बच्चे उसकी गाड़ी के सामने से निकल गए। अनिल वर्मा ने शराब के नशे में उनको रोककर धमकाना शुरू कर दिया और ऐसे में तीन चार गाड़ी सवार युवक भी बीच बचाव के लिए पहुंच गए और अनिल वर्मा का उनके साथ झगड़ा हो गया। जिसके चलते गाड़ी सवार तीन चार युवकों ने अनिल वर्मा की गाड़ी में टक्कर मार दी और उन्हीं को सबक सिखाने के लिए अनिल वर्मा ने यह झूठी अफवाह फैलाई।

 सीसीटीवी फुटेज के आधार पर भी सारे मामले की जांच कर ली गई है और लूट या रंगदारी मांगने जैसा कोई भी मामला छोटू राम चौक पर नहीं हुआ था।गौरतलब है कि रोहतक शहर में सुनारो वाली गली में भविष्य ज्वेलर्स के मालिक अनिल वर्मा ने बताया था कि देर रात अपने परिचित से 15 लाख रुपए लेकर लौट रहे थे। जैसे ही वे छोटू राम चौक पर पहुंचे तो एक स्कोडा गाड़ी ने उनकी गाड़ी को तीन चार टक्कर मारी और गन पॉइंट पर 15 लाख रुपए लूट लिए।

यही नहीं पिस्तौल दिखाकर उनसे 10 दिन में 20 लाख रुपए रंगदारी देने की भी धमकी दी है। अनिल वर्मा ने आरोप लगाया कि जिस समय यह घटना हुई उस समय उनकी गाड़ी के पीछे एक टवेरा गाड़ी खड़ी थी। जो रोहतक पुलिस के सीआईए स्टाफ की थी। उन्होंने इस गाड़ी में बैठे लोगों को घटना की जानकारी दी, लेकिन वे लोग भी कार्रवाई करने की बजाय गाड़ी स्टार्ट करके भाग गए।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static