योग का साइंटिफिक अध्ययन होना चाहिए: अनिल विज

punjabkesari.in Thursday, Apr 28, 2022 - 06:28 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा के आयुष मंत्री अनिल विज ने कहा कि योग का साइंटिफिक अध्ययन होना चाहिए क्योंकि हम सबका योग में विश्वास हैं और हम सभी योग को जानते भी हैं। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि ‘‘इंटीग्रेशन आफ मैडीसीन का ऑल इंडिया बोर्ड’’ भी बनाया जाना चाहिए ताकि अच्छी और सफल पद्धतियों को अपना कर लोगों को ठीक करने का काम किया जा सके। विज आज यहां आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर हरियाणा योग आयोग द्वारा योग संस्थाओं के साथ मिलकर 75 करोड़ से अधिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम की सफलता में आयोजित अभिनंदन कार्यक्रम में बोल रहे थे। कार्यक्रम के दौरान श्री विज को 114 करोड से अधिक सूर्य नमस्कार के पूरा होने हेतू ओलंपिया विश्व रिकार्ड प्रमाण-पत्र व वर्ल्ड बुक आफ रिकार्ड प्रमाण-पत्र तथा 439551 योगा फोटो एलबम के लिए मिले गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड का प्रमाण -पत्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

उन्होंने कहा कि हर एैलोपैथी डाक्टर को आयुर्वेंद के संबंध में एक साल का प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए। विज ने कहा कि हमें नए युग में बढना होगा और प्राकृतिक चिकित्सा इत्यादि को अपनाना होगा क्योंकि नए भारत के लिए सोच में नयापन लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि इंटीग्रेशन ऑफ पैथी का समय आ गया है और अलग-अलग पैथियों ने सफलताएं प्राप्त की, इसलिए हमें हर उस पैथी को छांटना चाहिए जो ठीक उपचार करें। उन्होंने कहा कि आयुष को बढाने का समय आ गया है और इसके साथ-साथ आयुर्वेद, सिद्धा, युनानी को भी आगे बढाने का काम किया जाना चाहिए।

आयुष मंत्री ने कहा कि अगर हम योग को आगे बढाएंगें तो हम देश का बहुत बड़ा उपकार करेंगें। उन्होंने स्वयं का उदाहरण देते हुए कहा कि ‘‘मैं स्वयं कई पद्धतियों से होकर निकला हूूं, जहां कहीं ऐलोपैथी के डाक्टरों ने हाथ खडे कर दिए थे, वहां पर दूसरी पैथी ने मुझे खड़ा कर दिया’’। इसलिए हमें अपना दृष्टिकोण बदलना होगा और द्धंद व द्वेष से बाहर आकर एक दूसरी पद्धतियों का आपस में सम्मान करना होगा।उन्होंने कहा कि योग हमारी पुरानी विद्वा है और जब उपचार की कोई विधियां नहीं थी तो इंसान ने योग के माध्यम से अपने शरीर को ठीक करने का काम किया है। आज हरियाणा योग आयोग अपने शिशुकाल में हैं लेकिन जोश व भावना तथा कम साधनों व साथियों के साथ योग आयोग अपना काम कर रहा हैैं। श्री विज ने कहा कि 75 करोड़ सूर्य नमस्कार के लक्ष्य के विरूद्ध 114 करोड़ से अधिक सूर्य नमस्कार किए गए हैं जिसके तहत पंजीकरण में हरियाणा की 25 प्रतिशत हिस्सेदारी रही है, जो एक बहुत बडी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि आने वाला भविष्य इस ओर जाते हुए नजर आ रहा है और लोगों का रूझान योग की तरफ हुआ है। 

इसी प्रकार, हरियाणा सरकार भी योग को बढावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि राज्य के प्रत्येक गांव व शहर की हर संभव जगह तक योग को पहुंचाया जाए। हालांकि इसमें दिक्कते आ रही है लेकिन जब लक्ष्य मजबूत होता है तो पहाड भी टूट जाते है। इससे पहले, स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि 75 करोड़ सूर्य नमस्कार में हरियाणा ने बढचढ कर भागीदारी की हैं जोकि उल्लेखनीय है। उन्होंने कहा कि योग आयोग द्वारा योग को बढावा देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने आयुष विभाग द्वारा उठाए जा रहे विभिन्न कदमों के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि हैल्थ एंव वैलनेस के संबंध में एक नीति का प्रारूप तैयार किया गया हैं और रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा योग करवाने के संबंध में भी एक नीति का प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि सरकारी कर्मचारियों व पेंशनरों को एलोपैथी पैकेजों की तर्ज पर प्रतिपूर्ति के संबंध में आयुष विभाग ने भी विभिन्न पैकेजों को तैयार किया है और इस बारे में सैद्धांतिक मंजूरी भी मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत भी कुछ पैकेज बनाए जा सकते हैं। 

इसी प्रकार, उन्होंने कहा कि श्रीकृष्णा आयुष विश्वविद्यालय को पूर्ण रूप से संचालित करने के लिए विभिन्न प्रक्रियाएं जारी हैं और इसके लिए जल्द ही विभिन्न कार्यो के लिए 500 करोड रूपए की राशि का टेंडर निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार का मतंव्य प्रीवेंटीव की ओर है ताकि लोगों के स्वास्थ्य पर खर्च होने वाली राशि को बचाया भी जा सकें। इस अवसर पर आयुष विभाग के महानिदेशक डॉ साकेत ने कहा कि विभाग द्वारा तैयार की गई नीति के प्रारूप के तहत जो आरडब्ल्यूए 50 सदस्यों को योग करवाएंगें उनके लिए योग शिक्षक हेतू 5 हजार रूपए की राशि दी जाएगी। इसी प्रकार, योग के तहत हैल्थ एंड वेलनेस को इण्डस्ट्री का दर्जा दिया जाएगा और विभिन्न लाभ प्रदान किए जाएगें। उन्होंने बताया कि विभाग आने वाले योग दिवस को हरियाणा बडे ही व्यापक स्तर पर मनाने के लिए तैयारी रहा है। 

इस दौरान हरियाणा योग आयोग के अध्यक्ष डॉ जयदीप आर्य ने एक प्रस्तुतिकरण देकर योग आयोग द्वारा की जा रही विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूरे विश्व में आयुष विश्वविद्यालय हरियाणा में खोला गया है, जो सराहनीय कदम है। इस मौके पर हरियाणा के आयुष मंत्री श्री अनिल विज ने योगमय हरियाणा पुस्तक, 75 करोड़ सूर्य नमस्कार के संबंध में बनाई गई काफी टेबल बुक का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में विज ने विभिन्न योग साधकों सहित स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, आयुक्त विभाग के महानिदेशक व अन्य को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static