कृषि कानूनों से भी खतरनाक सीड एक्ट व दूध से संबंधित कानून: टिकैत

4/8/2021 10:59:39 AM

यमुनानगर (त्यागी) : किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत बुधवार को हिमाचल के पांवटा में किसान रैली को संबोधित करने से पूर्व जिले की सीमा पर स्थित गांव कलानौर में पहुंचे। जहां उन्होंने पत्रकारों को संबोधित किया। इस मौके पर उनके साथ किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष रतन मान व जिलाध्यक्ष सुभाष गुर्जर उपस्थित थे। टिकैत ने कहा कि कृषि कानूनों से भी खतरनाक कानून अब आगे आने वाले हैं जोकि लोकसभा में पारित होने हैं।

इन कानूनों में सीड एक्ट व दूध से संबंधित कानून हैं। यदि यह कानून पास होते हैं तो किसान कहीं के भी नहीं रहेंगे सीड कानून के तहत जुर्माना व सजा दोनों का प्रावधान है जबकि मिल्क से संबंधित कानून के बारे में उनका कहना था कि विदेशों से दूध यहां आएगा और पहले तो 30 रूपए लीटर बिकेगा और देश का पशुपालक टर्की की तरह समाप्त हो जाएगा। आज टकी जैसे देश में एक भी पशु नहीं है और पशुपालक किसी तरह भारत से भी खत्म हो जाएगा।

उन्होंने कृषि कानूनों को लेकर कहा कि जो किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हैं अब उन्हें किसी प्रकार की कोई चिंता नहीं।   उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार इस आंदोलन को शाहीन बीग आंदोलन न समझे। कोरोना की सभी गाईडलाईन की पालना की जाएगी लेकिन आंदोलन समाप्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता को खट्टर बनाया जाएगा जोकि अपने प्रदेश में अपनी सभा नहीं कर सकता। सभी नेताओं को ऐसा कर देंगे कि वे एक भी सभा नहीं कर सकेंगे उन्होंने कहा कि किसान अभी अपनी फसल की कटाई कर रहे हैं इसलिए. सीमा पर किसान कम दिखाई दे रहे हैं वहीं दूसरी और दिल्ली में भी तो नेता दिखाई नहीं दे रहे। क्योंकि सभी नेता चुनाव में लगे हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें)


Content Writer

Isha

Related News