आईटी के छात्रों ने बनाया ऐसा ड्रोन जिससे होती है बीजों की बरसात, मानसून में उगेंगे कई प्रजातियों के

7/17/2020 5:12:53 PM

यमुनानगर (सुरेंद्र मेहता): हरियाणा में कई ऐसे इलाके हैं जहां तक पहुंचना संभव नहीं है। ऐसे पहाड़ी व नदी नालों के किनारों के इलाकों में ड्रोन से बीज गिराए जा रहे हैं। ताकि मानसून के दौरान वह बीज फूटकर पौधों के रूप में सामने आए और फिर पेड़ बन जाएं। हरियाणा के वन एवं शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने यमुनानगर में इसका उद्घाटन किया। इस अवसर पर वन विभाग की प्रिंसिपल चीफ कंजरवेटर अमरिंदर कौर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

PunjabKesari, Haryana

यमुनानगर के सढौरा ब्लॉक के टिब्बी गांव में हरियाणा के वन एवं शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर ने ड्रोन से पहाड़ी इलाकों में विभिन्न प्रजातियों के पेड़ों के बीजों का छिड़काव  का उद्घाटन किया।  550 हेक्टेयर में यह बीज गिराए गए। जिससे आने वाले समय में लाखों पेड़ पौधे उगेंगे और हरियाली बढ़ेगी। वन मंत्री ने बताया कि हरियाणा में ऐसे बहुत से इलाके हैं जहां जमीन खाली है, लेकिन पहुंचना संभव नहीं है। वहां आईटी के छात्रों द्वारा विशेष रूप से बनाए गए ड्रोन के माध्यम से बीज गिराए गए हैं। ताकि इन इलाकों में और ज्यादा हरियाली हो।

PunjabKesari,Haryana

मंत्री गुर्जर ने बताया कि हरियाणा के हर जिले में अलग-अलग तरह की विशेषताएं हैं। कहीं ऐतिहासिक स्थल हैं कहीं धार्मिक स्थल है। सरकार हर जिले में डॉक्यूमेंट्री तैयार करेगी ताकि बाहर से आने वाले व्यक्ति को पता चल सके कि इस जिले में कौन से धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थल हैं, और कहां नेचुरल ब्यूटी है। ताकि वह उसी हिसाब से अपना घूमने का कार्यक्रम तय कर सकें।

हरियाणा की वन विभाग की प्रिंसिपल चीफ कंजरवेटर डॉ. अमरेंद्र कौर ने बताया कोरोना महामारी के इस युग में हमें समझ में आया है कि कुदरत के साथ जुड़े रहकर ही हम अपना बचाव कर सकते हैं। इसी के दृष्टिगत प्रदेशभर में कोविड विजय वाटिका बनाई जा रही हैं। जहां कई प्रकार के औषधीय पौधे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हरियाणा हिमाचल सीमा पर पहाड़ी इलाकों में ड्रोन के माध्यम से बीजों का छिड़काव किया जा रहा है ताकि हर जगह हर तरह के पेड़ पौधे तैयार हो सकें। उन्होंने बताया कि ऐसे 13500 पौधे टिब्बी गांव में लगाए जा रहे हैं। 

PunjabKesari,Haryana

उन्होंने जानकारी दी कि प्रदेश के अन्य कई पहाड़ी इलाकों में भी ड्रोन के माध्यम से बीजों का छिड़काव किया जाएगा। जिसमें पंचकूला, रायपुररानी, महेंद्रगढ़ के अरावली की पहाडिय़ां, बडख़ल लेक सहित अन्य इलाके शामिल हैं। हरियाणा के वन विभाग की इन कोशिशों के बाद आने वाले समय में प्रदेश में और हरियाली बढ़ेगी और किंग चढ़ा के औषधीय एवं फल पौधे लगेंगे जो आने वाली कई पीढिय़ों के काम आएंगे और इससे पर्यावरण भी शुद्ध रहेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Shivam

Related News

Recommended News

static