बारहवीं में पंचकूला जिले में टॉप करने वाली तान्या ने विस अध्यक्ष से की मुलाकात

punjabkesari.in Thursday, Jun 16, 2022 - 07:59 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा बोर्ड की बारहवीं कक्षा में पंचकूला जिले में पहला स्थान हासिल करने वाली तान्या ने आज विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता से मुलाकात की। विस अध्यक्ष ने तान्या को लैपटॉप के लिए 25000 रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का ऐलान किया है। अपनी सफलता से गदगद तान्या अपने पिता अमर सिंह, स्कूल प्रधानाचार्य जितेंद्र शर्मा और स्टाफ के साथ विस अध्यक्ष से मिलने पहुंची थी। गुप्ता ने छात्रा का मुंह मीठा करवाया और उसे उज्ज्वल भविष्य का आशीर्वाद दिया। उन्होंने कहा कि पंचकूला जिले के होनहार विद्यार्थियों को कभी भी आर्थिक कारणों से पढ़ाई से वंचित नहीं रहने देंगे।

सरकारी स्कूलों की बदल रही तस्वीर- ज्ञान चंद गुप्ता

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि बतौड़ गांव के राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूल ने पढ़ाई और संस्कारित शिक्षा के मामले में कई निजी स्कूलों को टक्कर देते हुए साबित कर दिया है कि सरकारी स्कूल अब किसी भी मामले में पीछे नहीं हैं। यही कारण है कि इस स्कूल में आसपास के 8 गांवों के साथ-साथ पंचकूला शहर के बच्चों ने भी दाखिला लिया हुआ है। इसके लिए विशेष रूप से बसें भी लगाई गई हैं। यह अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। एक समय था जब शहरों में ही अच्छे स्कूल होते थे और गांवों के बच्चों को शहर आना पड़ता था, लेकिन आज गांव के स्कूल भी बड़े कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। गुप्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार की सकारात्मक नीतियों के चलते प्रभावी परिणाम आ रहे हैं। उन्होंने तान्या की सफलता का श्रेय छात्रा की मेहनत, स्कूल प्रधानाचार्य जितेंद्र शर्मा और स्टाफ को दिया है।

कई सुविधाओं से लैस से जिला टॉपर का सरकारी स्कूल

तान्या ने 500 में से 481 अंक लेकर जिले में प्रथम स्थान हासिल किया है। उसने कॉलेज प्राध्यापक बनने का लक्ष्य निर्धारित किया है। उसके पिता अमर सिंह खेती करते है और मां गृहिणी है। स्कूल प्रधानाचार्य जितेंद्र शर्मा ने बताया कि 4 वर्ष पूर्व इस स्कूल में मात्र 231 विद्यार्थी थे, जबकि आज 1300 बच्चे यहां अपना भविष्य संवार रहे हैं। तान्या के साथ विधान सभा पहुंची अंग्रेजी की प्राध्यापिका पूनम सिंह ने बताया कि विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता के प्रयास से उनके पूरे स्कूल का कायाकल्प हुआ है। स्कूल में अंग्रेजी भाषा के अध्ययन के लिए स्थापित लैब में रचनात्मक ढंग से भाषा का अभ्यास करवाया जाता है। बिजनेस स्टडीज की प्राध्यापिका रश्मि चौहान के मुताबिक स्कूल में हर प्रकार के संसाधनों और योग्य स्टाफ के कारण हर साल परीक्षा परिणाम में नए कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static