बच्चों की वैक्सीन आने की खबर ने किया चिंता रहित : अनिल विज

10/14/2021 9:38:10 AM

चंडीगढ़ (चंद्रशेखर धरणी) : कोरोना की तीसरी लहर का ज्यादा असर बच्चों पर अधिक होने की संभावनाओं के चलते सभी अभिभावकों का चिंतित होना लाजमी था। वहीं राज्य सरकारें अपने स्तर पर सुरक्षा के बेहद पुख्ता प्रबंध करने में लगी हुई थी और केंद्र सरकार भी लगातार बच्चों की वैक्सीनेशन को लेकर कोशिशों में लगी थी। केंद्र सरकार को इसमें सफलता मिलने के बाद से बच्चों के परिजन काफी हद तक चिंतारहित हुए हैं।

इस बारे प्रदेश के गृह, स्वास्थ्य एवं निकाय मंत्री अनिल विज ने जानकारी देते हुए बताया कि वैक्सीन को लेकर बहुत दिनों से इंतजार किया जा रहा था। हम प्रदेश की बड़ी जनसंख्या लगभग 2 करोड 43 लाख लोगों को वैक्सीन दे चुके हैं। लेकिन बच्चों की वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार द्वारा तय कार्यक्रम के अनुसार हम 2 से 18 साल की उम्र के बच्चों को वैक्सीन देंगे। यह केंद्र सरकार की एक बड़ी जीत है। विज ने बताया कि इसके साथ-साथ प्रदेश सरकार प्रदेश को स्वस्थ रखने के लिए और भी कई क्रांतिकारी कदम उठाने जा रही है।

जिसमें केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश को दिया गया आयुर्वेदिक और योगा एम्स के मुकाबले का एक विशाल आयुर्वेदिक चिकित्सा अनुसंधान संस्थान पंचकूला में बनाया जाना है। जिसका जल्द ही शिलान्यास किया जाएगा। लगभग 270 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 250 बेड के इस अस्पताल के साथ-साथ आयुर्वेदिक उपचार, शिक्षा और अनुसंधान के लिए युवाओं को बेहतर अवसर मिलेंगे। राष्ट्रीय स्तर के इस संस्थान से हर साल 500 से अधिक छात्र यूजी, पीजी और पीएचडी कर सकेंगे। इसका निर्माण कार्य लगभग 24 माह में पूरा हो जाएगा। संस्थान में छात्रावास, स्टाफ क्वार्टर और गेस्ट हाउस जैसी सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। 

उन्होंने कहा कि इस परियोजना को लेकर भू-तकनीकी जांच पूरी कर ली गई है। अवधारणा योजना, मास्टर प्लान और वास्तु चित्र को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में आयुष एवं योगा के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं और इससे बेहतर इलाज होता है। आयुष अनुसंधान के लिए विदेशों से भी एमओयू की पेशकश आ रही है। जिससे रिसर्च के और बेहतर अवसर मिलेंगे। दो करोड़ लोगों को सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस संस्थान से हरियाणा के साथ-साथ हिमाचल, पंजाब के लगभग दो करोड़ लोगों को सीधा लाभ मिलेगा। इस संस्थान के लिए श्राइन बोर्ड ने आयुष मंत्रालय को अपने परिसर में 20 एकड़ भूमि उपलब्ध करवाई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। जिस पर 278.66 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static