डाक विभाग कोरोना काल के मृतकों की अस्थियों का करेगा गंगा विसर्ज,  करवाया जाएगा पूजापाठ

2021-06-10T16:15:36.827

रोहतक(दीपक): भारतीय डाक विभाग की रोहतक शाखा ने एक नई व अच्छी पहल की है। अब डाक विभाग उन लोगों की अस्थियां हिन्दू रितिवाज के तहत उनके धार्मिक स्थलों पर प्रवाहित करने का काम करेगा जो कि कोरोना काल मे मृत्यु को प्राप्त हो गए। जिनके परिजन कोरोना काल के नियमों के कारण धार्मिक स्थलों पर जा कर अपनो की अस्थियों को प्रवाहित नहीं कर सके। डाक विभाग के माध्यम से मृतक की  आत्मा की शांति के लिए उनकी अस्थियों को भिजवा सकते है। डाक विभाग सिर्फ इसके लिए रजिस्टरी का खर्च लेगा, अन्य किसी प्रकार का कोई खर्च नही।  पूरे हिन्दू रीतिरिवाज विधिविधान  से होगा अस्थियों का विसर्जन। 

 मुख्य डाक अधीक्षक धर्मबीर सैनी रोहतक मण्डल ने बताया कि डाक विभाग ने एक शुरुवात की है। जिसमे कोरोना काल मे जो लोग मृत्यु को प्राप्त हो गए और किसी कारण वंश उनके परिजन अपनो की अस्थियों को विर्सजन नहीं कर पाए, वे डाक विभाग के माध्यम से अपनो की अस्थियों को भेज सकते है। डाक विभाग सिर्फ सामान्य रजिस्ट्री का खर्च लेगा। डाक विभाग ने हरीद्वार, प्रयागराज, गया व वाराणसी के लिए यह शुरुआत की है। रोहतक के किसी भी डाकखाने से यह अस्थियां भेजी जा सकती है।
इन अस्थियों को प्रवाहित करने के बाद डाक विभाग के कर्मचारी ही पूजा पाठ करवाएंगे। इसके लिए केवल सम्बंधित क्षेत्र के लिए रजिस्टरी करवानी होगी।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान मौत का आंकड़ा काफी बड़ा था और ऐसे में बहुत से लोगों का अंतिम संस्कार तो जिला प्रशासन द्वारा ही किया गया है।  क्योंकि कोरोना प्रोटोकॉल के चलते परिजनों को अंतिम संस्कार करने की अनुमति नहीं थी। जिसके चलते अस्थियां विसर्जन नहीं हो पाया। लेकिन अब डाक विभाग ने एक बड़ी शुरुआत करते हुए लोगों को अपने परिजनों की आत्म शांति के लिए  पूजा का अवसर दिया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static