मलेरिया विभाग की कार्यशैली से संतुष्ट नहीं लोग, मच्छरों के प्रकोप से बुखार की चपेट में आ रहे ग्रामीण

8/3/2020 3:23:17 PM

फिरोजपुरझिरका (ब्यूरो) : जिला मलेरिया विभाग की कार्यशैली से लोग संतुष्ट नही है। अनेक गांवो में मच्छरों के प्रकोप से लोग बुखार की चपेट में आते जा रहे है। ग्रामीणों के बार-बार गुहार लगाने के बाद भी जिला मलेरिया विभाग न तो मच्छर मारने की दवा छिड़कने के लिए तैयार है और न ही इन गांवो के लोगों की स्लाइड बनाने की कोई योजना है। प्रदेश सरकार की ओर से नूह जिले को मलेरिया मुक्त बनाने के लिए स्थानीय जिला मलेरिया विभाग की दिल खोल कर धन उपलब्ध करा रहा है। इसके बावजूद जिला मलेरिया विभाग की कार्यशैली लोगों के अनुरूप खरी नहीं उतर पा रही है।

मलेरिया विभाग पिछले कई सालों से विवादों के घेरे में है। फिरोजपुर झिरका उपमंडल के सेकड़ो गांव में मच्छरों के प्रकोप से लोग रात पर सो नहीं पा रहे है। यही नहीं मच्छर काटने से लोगों की बड़े पैमाने पर बुखार से पीड़ित है। कन्साली के नाजिम,बिवा के जमील,साकरस के खूबी,दोहा के जब्बार आदि ने बताया कि मच्छर फैलने की शिकायत अनेक बार जिला मलेरिया विभाग के अधिकारियों से की जा चुकी है। लेकिन मलेरिया विभाग में बैठे अधिकारी व कर्मचारियों ने आज तक न तो  गांवों में मच्छर मारने की दवा का छिड़काव किया है और न ही गांवों में बुखार आने वाले रोगियों की स्लाइड बनाने के आदेश दिए है। मजबूरी में लोग गांव मेबेठे झोलाछाप डॉक्टरों से उपचार करा कर अपनी जेब हल्की कर रहे है। इस सम्बंध में जिला मलेरिया अधिकारी डॉ अरविंद ने कहा कि यदि किसी गांव की पंचायत आग्रह करेगी तो अवश्य उस गांव में मलेरिया विभाग काम शुरू करेगा।


Edited By

Manisha rana

Related News