गांव का नाम “पंजोखरा साहिब” करने पर कई गांवों के ग्रामीणों ने गृह मंत्री अनिल विज का किया धन्यवाद

punjabkesari.in Sunday, Dec 10, 2023 - 03:42 PM (IST)

चंडीगढ़(चंद्र शेखर धरणी): हरियाणा के अम्बाला छावनी विधानसभा क्षेत्र के गांव का नाम उसके धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व के अनुरूप अब “पंजोखरा साहिब” होने पर पंजोखरा साहिब एवं आसपास क्षेत्र के सैकड़ों ग्रामवासियों ने गृह मंत्री अनिल विज का धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि “पूर्व सरकारों ने उनकी इस मांग को कभी पूरा नहीं किया"। ग्रामवासियों ने कहा कि "देवीलाल सरकार, भजनलाल, बंसीलाल व चौटाला सरकार के समक्ष भी ग्रामवासियों ने मांग उठाई थी, मगर किसी ने इसे पूरा नहीं किया, अब गृह मंत्री अनिल विज ने उनकी दशकों पुरानी मांग को पूरा किया है”। गृह मंत्री अनिल विज की बदौलत गांव का नाम “पंजोखरा साहिब” होने से गांववासियों के अलावा आसपास क्षेत्र के गांवों और सिख समाज में भारी उत्साह है। रविवार को पंजोखरा साहिब गांव के अलावा गरनाला, बरनाला, धनकौर, जनेतपुर, खतौली, मंडौर के साथ साथ कलरहेड़ी, डिफेंस कालोनी से सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण व सिख संगत ने गृह मंत्री अनिल विज के आवास पर पहुंच इस कार्य के लिए उनका धन्यवाद जताया। 

पंजोखरा साहिब गांव के सरपंच बॉबी व अन्य ने बताया कि गांव का नाम उसके धार्मिक महत्व के अनुरूप करने के लिए दशकों से यह मांग पूर्व सरकारों के समक्ष उनके द्वारा उठाई गई थी। मगर पूर्व सरकारों ने इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया, मगर गृह मंत्री अनिल विज ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए गांव के नाम को पंजोखरा साहिब करने के लिए कार्रवाई कि जोकि उनके अथह प्रयासों से पूर्ण हुई है। इसकी खुशी पूरे सिख समाज को है। अब गांव को पंजोखरा साहिब के नाम से जाना जाएगा जोकि एक ऐतिहासिक फैसला है। ग्रामवासियों ने कहा कि गृह मंत्री ने यह कार्य करके दिखाया और आज पंजोखरा साहिब गांव के अलावा आसपास क्षेत्र के कई गांवों व सिख संगत ने उनके आवास पर पहुंच उनका धन्यवाद जताया है। 

रविवार को गृह मंत्री अनिल विज को पंजोखरा साहिब व अन्य गांव से आई सिख संगत ने सिरोपा व किरपाण भेंटकर सम्मानित किया व धन्यवाद जताया। इस अवसर पर भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष किरणपाल चौहान के अलावा पंजोखरा साहिब गांव के सरपंच बॉबी, गांव पंजोखरा साहिब से रणधीर सिंह, पाला प्रधान, बलदेव सिंह, लाल सिंह, दिलावर सिंह, कुलदीप सिंह, लखविंद्र सिंह, गुरविंद्र सिंह गरनाला, रोशन सिंह बरनाला, गांव जनेतपुर के सरपंच सुरमुख सिंह, पूर्व सरपंच मस्तान सिंह, गरनाला से तलविंद्र सिंह व जगदीप सिंह, धनकौर से बलजीत सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।गौरतलब है कि गृह मंत्री अनिल विज ने गांव का नाम पंजोखरा साहिब करने के प्रस्ताव की मांग को राज्य सरकार के सम्मुख उठाया था जिसके बाद केंद्र से भी अनुमति मिलने पर हरियाणा सरकार ने इसकी अधिसूचना गत दिनों ही जारी की थी। 

आठवीं पातशाही गुरू हरकिशन साहिब की चरणस्थली है पंजोखरा साहिब गांव  पंजोखरा साहिब गांव में स्थित गुरुद्वारा श्री गुरू पंजोखरा साहिब आठवीं पातशाही श्री गुरू हरकिशन साहिब महाराज की चरणस्थली है। गुरू जी दिल्ली जाते समय पंजोखरा साहिब में ठहरे थे। उनके यहां आने की सूचना मात्र से ही आसपास क्षेत्र से संगत उनके दर्शनों के लिए आना शुरू हो गई थी। पंडित लालचंद को जब इस संबध में पता चला, तो उन्होंने गुरू हरकिशन जी को गुरू मानने से इंकार करते हुए कहा था कि इनती छोटी अवस्था में एक बालक को गुरू की उपाधि कैसे दी जा सकती है। पंडित ने शर्त रखी थी कि यदि गुरू जी गीता के श्लोकों के अर्थ कर दे, तों वह उनको गुरू मानेगा। तब गुरू जी ने पंडित लालचंद द्वारा बोले गए श्लोकों के अर्थ एक व्यक्ति से करवाए थे जोकि बोलने व सुनने में असमर्थ था। गुरू जी ने उसके सिर पर मात्र छड़ी रखकर श्लोकों के अर्थ करवाए और यह देख पंडित गुरू जी के चरणों में गिर पड़ा और गलती के लिए क्षमा मांगी। तभी से यह मान्यता है कि गुरुद्वारा साहिब में स्नान कर माथा टेकने वाले व्यक्ति के रोग दूर होते हैं एवं मनोकामना पूर्ण होती है। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

Related News

static