वेतन में बढ़ौतरी न होने पर ग्रामीण चौकीदारों ने जताया रोष

9/13/2019 2:36:37 PM

रोहतक (मैनपाल): हरियाणा ग्रामीण चौकीदार सभा के महासचिव रामचन्द्र सिवाच व प्रधान संजीत कुमार ने वीरवार को संयुक्त रूप से जारी बयान में कहा कि हरियाणा सरकार ने निगम व नगरपालिका सफाई कर्मचारियों का वेतन 15000 रुपए घोषित किया है, जबकि ग्रामीण सफाई कर्मचारियों की 12500 रुपए घोषित की इसके इलावा मिड-डे मील आंगनबाड़ी वर्कर व हैल्पर आशा वर्करों की भी कई मांगें मानी गई हैंं परंतु बड़े खेद की बात है कि हरियाणा के ग्रामीण चौकीदारों के मानदेय में कोई बढ़ौतरी नहीं की है।

हरियाणा के ग्रामीण चौकीदारों को केवल 7000 रुपए प्रतिमाह मानदेय मिलता है। इस लिए हरियाणा के ग्रामीण चौकीदारों में काफी नाराजगी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के ग्रामीण चौकीदारों पर पी.एफ. (ई.पी.एफ.) लागू करने की घोषणा को ठीक मानते हैं। हम इस घोषणा का स्वागत करते है परंतु केवल घोषणा से काम नहीं चलेगा।

उन्होंने मांग की है कि इस घोषणा का नोटिफिकेशन जारी हो और 12.5 प्रतिशत पैसा सरकार ब्लाक को यूनिट मानकर सरकार यह पैसा अदा करें।उन्होंने कहा कि निगम व नगर पालिका सफाई कर्मचारियों के बराबर ग्रामीण चौकीदारों का वेतन 15000 रुपए प्रतिमाह किया जाए, ग्रामीण चौकीदारों को सालाना वेतन वृद्धि दी जाए।

आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं के समान साल में 2 बार महंगाई की दर पर मानदेय (तनख्वाह बढ़ाई जाए), उन्होंने कहा यदि सरकार ने चौकीदारों की वेतन में बढ़ौतरी नहीं की तो हरियाणा के ग्रामीण चौकीदार 16 सितम्बर को जिला स्तर पर प्रदर्शन करके उपायुक्त को मांगपत्र देंगे और उस दिन आगामी कार्यक्रम घोषित करेंगे।


Isha

Related News