आशा वर्कर की लापरवाही से बच्चे व मां की जान आई खतरे में, पति ने अनिल विज से की शिकायत

6/30/2020 10:52:32 AM

डबवाली (संदीप कुमार ): डबवाली में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां समय पर स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल पाने के कारण प्रसूता ने एंबुलैंस में बच्चे को जन्म दे दिया। इस वजह से बच्चे व गर्भवती महिला की जान पर बन आई। गुस्साए परिजनों ने अब इस मामले की शिकायत प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के साथ-साथ स्थानिय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से की है।

डबवाली के नागरिक अस्पताल के एस.एम.ओ. डा.एम.के.भादू को दी शिकायत के माध्यम से महिला के पति बुटा सिंह ने कहा कि उसकी पत्नी रमनदीप कौर को बीती 26 जून को अचानक तेज दर्द शुरू हुआ। ऐसे में वह गांव में कार्यरत आशा वर्कर वीरपाल कौर के पास मदद के लिए गया और अपनी पत्नी की बिगड़ती हालत के बारे में बताया। बुटा सिंह के मुताबिक उसने आशा वर्कर को बताया कि उसकी पत्नी की तबीयत बहुत खराब है और उसका दर्द नहीं रूक रहा है। शिकायतकर्ता बुटा सिंह के मुताबिक उसकी पत्नी वीरपाल कौर ने आशा वर्कर को अपने प्रैगनेंसी से लेकर डिलीवरी होने तक की पूरी जानकारी दी हुई थी। लेकिन इसके बावजूद आशा वर्कर गर्भवती वीरपाल कौर को देखने तक नहीं आई। उल्टा उसने गर्भवती महिला को अपने पास लाने को कह दिया।

शिकायत में बुटासिंह ने कहा है कि इस पर उसने आशा वर्कर को कहा कि वह बहुत गरीब है और उसके पास वाहन नहीं है कि जिससे वह अपनी पत्नी को आशा वर्कर के पास ला सके। बार-बार विनती करने के बाद भी आशा वर्कर के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी। उन्होंने बताया कि उसकी पत्नी कई घंटों तक घर पर दर्द से तड़पती रही। इसके बाद उसके परिवार के अन्य सदस्यों ने फोन के माध्यम से एंबुलैंस को सूचना दी जिसके बाद एंबुलैंस गांव डबवाली उसके घर पहुंची लेकिन एंबुलैंस में सवार होने के कुछ मिनटों बाद की गांव डबवाली में उसकी पत्नी वीरपाल कौर ने बच्चे को जन्म दे दिया। शिकायतकर्ता ने बताया कि इस लापरवाही के कारण उसके बच्चे व उसकी पत्नी की जान खतरे में पड़ गई। इसलिए इस मामले में कार्रवाई की जाए। महिला के पति के साथ आए उसके रिश्तेदार व पंचायत समिति के वाइस चेयरमैन अमृतपाल ने भी एस.एम.ओ. से इस मामले में आशा वर्कर के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की।  
 
इस मामले में डबवाली के एस.एम.ओ. डा. एम.के.भादू ने कहा कि डबवाली गांव ओढ़ां सी.एच.सी. के अंतर्गत आता है। इस मामले में जो शिकायत उन्हें मिली है वो उसे ओढ़ां एस.एम.ओ. के पास भेज देंगे। मामले की जांच में जो भी निकलकर सामने आएगा उसके हिसाब से स्वास्थ्य विभाग कार्रवाई करेगा। 
 


Isha

Related News