न्यू सिवानी फीडर, बालसमंद सब-ब्रांच व बरवाला मेन लाइन पर खर्च होंगे 125 करोड़

11/25/2019 1:00:10 PM

हिसार(रमनदीप): 20 साल से भी ज्यादा समय से नहरी पानी की कमी झेल रहे बरवाला ङ्क्षलक चैनल से जुड़े किसानों को जल्द ही कुछ राहत मिलने की उम्मीद बंधने लगी है। नहरी विभाग ने इस समस्या को दूर करने के लिए 3 मुख्य नहरों पर 125 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रस्ताव तैयार किया है। इन प्रोजैक्ट में न्यू सिवानी माइनर, बालसमंद सब-ब्रांच व बरवाला मेन लाइन पर 125 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रोजैक्ट तैयार किया है। 

इनमें से न्यू सिवानी फीडर के पुनॢनर्माण पर 48 करोड़, बालसमंद सब-ब्रांच पर 21 करोड़ व बरवाला मेन लाइन पर 55 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इन प्रोजैक्ट के पूरा होने के बाद बरवाला ङ्क्षलक चैनल से जुड़े हिसार शहर व 450 से ज्यादा गांव व 4 बड़ें कस्बों के लाखों लोगों को सीधा फायदा होगा। नहरी पानी की समस्या झेल रहे इस एरिया के किसानों ने संयुक्त जल संघर्ष समिति बनाकर लगातार कई महीनों तक धरने प्रदर्शन करके सरकार पर इन कामों को करने का दबाव बनाया

संयुक्त जल संघर्ष समिति के धरने से जागी थी सरकार 
बरवाला लिंक चैनल से जुड़े हिसार व भिवानी जिले के किसान पिछले 20 सालों से नहरी पानी की समस्या झेल रहे हैं। नहरी पानी की समस्या के समाधान के लिए किसानों ने संयुक्त जल संघर्ष समिति बनाकर 2 साल तक तक कई कई दिनों तक जिला मुख्यालय पर धरना दिया था। दो साल पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किसानों की मांगों को पूरा करने का भरोसा देकर धरना खत्म करवाया था। हिसार दौरे के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी किसानों की समस्या को जल्द पूरा करने का भरोसा दे चुके हैं। समिति के प्रधान कु रड़ा राम नम्बरदार के अनुसार उनके एरिया की नहरों का काम लगभग पूरा हो चुका है, लेकिन जब तक मेन चैनल का बकाया काम पूरा नहीं हो जाता तब तक सका पूर्ण फायदा नहीं मिल पाएगा।

सातरोड़ से कबीर हैड तक होगा पूनर्निमाण
 नहरी विभाग के काडा एस.ई. सत्यपाल परिहार के अनुसार बालसमंद ब्रांच का सातरोड़ हैड से लेकर कबीर हैड तक पुनॢनर्माण का प्रोजैक्ट मंजूर हो चुका है। इस प्रोजैक्ट में नहर को नए सिरे से कंक्रीट से बनाया जाएगा। इस पूरे प्रोजैक्ट पर 21 करोड़ रुपए खर्च होंगे। काडा को इस काम की अनुमति मिल चुकी है। टैंडर प्रक्रिया अंतिम चरण में है। नहर के बनने के बाद बुड़ाक, बालसमंद, बगला व बासड़ा एरिया के किसानों को फायदा होगा। 

400 क्यूसिक पानी की न्यू सिवानी फीडर
यमुना का पानी सातरोड़ हैड तक लाने के लिए 400 क्यूसिक क्षमता की न्यू सिवानी फीडर के प्रोजैक्ट को भी मंजूरी मिल चुकी है। कई वर्षों से बंद पड़ी इस नहर पर 48 करोड़ की लागत के इस प्रोजैक्ट के पूरा होने के बाद यमुना का पानी सातरोड़ हैड तक पहुंच जाएगा जिसके बाद पानी की किल्लत कुछ कम हो सकेगी। इस नहर से देवसर फीडर से जुड़े किसानों को फायदा होगा। पहले इस नहर को पाइपलाइन से बनाना था। अब इसको ओपन बनाया जाएगा। 


Edited By

vinod kumar

Related News