योग हर तरह के स्ट्रेस को दूर रखने का एक बहुत बड़ा साधन: अभिमन्यु

9/22/2021 8:41:55 PM

चंडीगढ़ (धरणी): वर्ल्ड कार फ्री डे के अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने मंत्रिमंडल, विधायकों तथा पूरी टीम के साथ मुख्यमंत्री निवास से सचिवालय तक साइकिल पर सवार होकर पहुंचे। मुख्यमंत्री के पी एस अभिमन्यु ने कई अहम बातें बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के साथ 22 सालों से जुड़ा हूं और उनकी दिनचर्या को देखकर काफी प्रभावित हूं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री एक बेहद साधारण व्यक्तित्व के व्यक्ति हैं। रोजमर्रा के जीवन में एक्सरसाइज, साइकिलिंग करना और लोगों से मिल कर दुख दर्द दूर करना उनके शौक में शामिल है। वह मोटरसाइकिल और साइकिल दोनों चलाते हैं। 

आज मुख्यमंत्री ने साइकिल यात्रा करके कार फ्री डे के इस अवसर पर प्रदेश की जनता को यह संदेश देने की कोशिश की है कि यह हमारे निजी जीवन के लिए आज बेहद आवश्यक है। क्योंकि इससे न केवल हमें शारीरिक ताकत मिलती है, साथ-ही-साथ वातावरण को शुद्ध रखने में भी हम बड़ा सहयोग कर सकते हैं। अभिमन्यु ने बताया कि कोरोना कॉल के बाद हर उम्र के लोग बच्चे, युवा, बुजुर्ग स्वास्थ्य के प्रति काफी हद तक जागरूक हुए हैं। जो कि बेहद जरूरी भी है। क्योंकि लगातार बढ़ रहे वाहन कहीं-न-कहीं वातावरण को दूषित करते हैं। जबकि यूरोपीय कंट्रीज में लोग संसाधनों से लैस होते हुए भी साइकिल पर आसपास के कामों को करते हैं। जिससे हम अपने स्वास्थ्य को तो बेहतर बनाते ही है, साथ ही हम आने वाली हमारी पीढ़ी के लिए अच्छा वातावरण बनाकर रखने में बड़ा सहयोग करते हैं। 

उन्होंने बताया कि करीब एक माह पहले एक कंपनी द्वारा चंडीगढ़ के हर सेक्टर में साइकिले खड़ी की गई। जो कि मोबाइल पर ऐप डाउनलोड करके कोई भी-कहीं भी साइकिल को ले जा सकता है और कंपनी के दूसरे किसी स्टैंड पर इस साइकिल को छोड़ सकता है। यह बहुत अच्छी मुहिम है। कई कर्मचारी रोजाना घर से अपने कार्यालय तक इन्हीं साइकिलों से आने- जाने लगे हैं। यह एक अच्छा प्रयोग है। इससे हम अपने वातावरण को स्वच्छ रख सकेंगे।

अभिमन्यु ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री रोजाना सुबह 1 घंटे तक व्यायाम करते हैं। जिसमें वह योग भी करते हैं। उनके इस दिनचर्या से मैंने बहुत कुछ सीखा है। मुझे स्वस्थ रहने की प्रेरणा मिली। अब मैं रोजाना सुबह-शाम जब भी समय मिले एक-दो घंटे तक योगा करता हूं और अपने आपको काफी स्वस्थ और स्फूर्ति वर्धक महसूस करता हूं। इसीलिए अपने एक्सपीरियंस को शेयर कर रहा हूं। ताकि हरियाणा का हर व्यक्ति स्वस्थ हो। आज हरियाणा पूरे देश में सबसे अधिक मेडल लाने वाला प्रदेश है। हरियाणा में स्वास्थ्य को लेकर अच्छा माहौल है। मैं फिर भी हरियाणा के युवाओं से विनती करूंगा कि प्रदेश के खिलाड़ियों से प्रेरणा लेकर योग या खेलों की तरफ ध्यान दें ऐसा करने से वह नशे की लत से दूर रहेंगे। साथ ही में विद्यार्थियों से निवेदन करना चाहूंगा कि पढ़ाई के साथ-साथ किसी भी खेल के साथ जरूर जुड़े जिससे उनका शरीर मजबूत और स्वस्थ होगा, साथ ही वह नशे के जाल में नहीं फंसेगे।

उन्होंने कहा कि योग, प्राणायाम हर तरह के स्ट्रेस को दूर रखने का एक बहुत बड़ा साधन है। इससे न केवल हम स्वस्थ होते हैं बल्कि हमारा सामाजिक दायरा भी इससे बढ़ता है। आज जीवन हाईटेक होने के साथ-साथ फिजिकल एक्टिविटी बेहद घटी है। अगर हम किसी खेल से जुड़ेंगे तो शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ हमारे सामाजिक सर्कल में भी बढ़ोतरी होगी। आज बहुत से ऐसे व्यक्ति समाज में हैं जिनके फेसबुक फ्रेंड तो 5000 हैं, लेकिन समाज में 5 फ्रेंड भी नहीं हैं। अगर ऐसा चलता रहा तो धीरे-धीरे हम अपनी सामाजिक संस्कृति को खो देंगे। सोशल मीडिया कुछ हद तक काफी बेहतरीन साधन है। लेकिन इसके कारण हमारे सामाजिक और पारिवारिक संबंध भी घटे हैं जो एक बेहद चिंता का विषय है। समाज में खेलों में आने-जाने से ही सामाजिक दायरे में बढ़ोतरी होती है और हमें अपने इसी सामाजिक, संस्कृति, सामाजिक पहचान को अपने बच्चों (अगली पीढ़ी) के लिए बचा कर रखने हैं। इसलिए समाज में बैठना, अपने स्वास्थ्य और वातावरण को बचाना हमारा नैतिक कर्तव्य है। 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Recommended News

static