कृषि विभाग ने किए 5 डीलरों के लाइसेंस रद्द , टीम ने किया कई फैक्ट्रियों का दौरा

punjabkesari.in Saturday, Apr 30, 2022 - 02:03 PM (IST)

यमुनानगर (सुरेंद्र मेहता): हरियाणा के यमुनानगर में किसानों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली यूरिया खाद की बड़े पैमाने पर प्लाईवुड फैक्ट्रीयों में इस्तेमाल किया जा रहा है। पिछले दिनों यमुनानगर पहुंची केंद्रीय जीएसटी टीम ने भी इस संबंध में एक डीलर को अनियमितताओं के साथ पकड़ा था। जिस पर उन्हें हिरासत में लिया गया। हालांकि इसी दौरान उनके 20 से अधिक साथियों ने आकर जीएसटी की टीम के साथ धक्का-मुक्की करके उन्हें छुड़ा ले गए। इस संबंध में मामला भी दर्ज किया गया है।

वहीं कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डाक्टर जे एस सैनी का कहना है कि बुधवार से विभाग की कई टीमें फैक्ट्रियों में जाकर चेकिंग कर रही हैं। इस दौरान 3-4 डीलरों के यहां भी चेकिंग हुई है। उनमें अनियमितताएं पाई गई हैं। उनके लाइसेंस भी रद्द किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि पहले भी खाद यूरिया प्लाईवुड फैक्ट्री में पाया गया है। इसके लिए 25 सैंपल लिए गए हैं, जो लैब में भेजे गए हैं।

उन्होंने जानकारी दी कि अप्रैल महीने से अब तक पांच लाइसेंस सस्पेंड किए गए हैं। फैक्ट्री में किसानों का यूरिया खाद इस्तेमाल होना पिछले लंबे समय से जारी है। यह यूरिया ₹287 का एक कट्ठा है जबकि प्लाईवुड फैक्ट्री में इस्तेमाल होने वाले यूरिया की कीमत 1800 प्रति कटा है, जिसके चलते प्लाईवुड फैक्ट्री मालिक किसानों द्वारा इस्तेमाल होने वाला यूरिया इस्तेमाल करते हैं इससे सरकार को भी भारी नुकसान होता है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static