हरियाणा पंजाब में जो हो रहा इसका मास्टरमाइंड पंजाब का मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह : अनिल विज

11/27/2020 9:12:00 AM

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए प्रदेश सरकार कितने अलर्ट मोड़ पर है और हरियाणा में 3 कृषि कानूनों को लेकर मचे बवाल और किसानों द्वारा दिल्ली की तरफ बढ़ते कदमों को रोकने के लिए किस प्रकार से प्रदेश सरकार कदम उठा रही है इन सब बातों को लेकर पंजाब केसरी ने प्रदेश के गृह, स्वास्थ्य और निकाय मंत्री अनिल विज से बातचीत की जिसमें उन्होंने किसानों द्वारा मचाए जा रहे बवाल के पीछे पूरी तरह से जिम्मेदार पंजाब के मुख्यमंत्री अमरेंद्र सिंह को ठहराया है। उन्होंने इस बवाल का मास्टरमाइंड अमरेंद्र सिंह को बताते हुए कहा कि हम किसानों के मामले में सयंम बरत रहे हैं। उनसे बातचीत के कुछ अंश प्रस्तुत हैं :-

प्रश्न: लव जेहाद को लेकर कानून  बनाने के लिए किसी कमेटी का  गठन किया है?
उत्तर:
मैंने 3 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है जिसमें वरिष्ठ आई.ए.एस. अधिकारी सैके्रटरी होम पी.एल. सत्य प्रकाश, ए.डी.जी.पी. लॉ एंड ऑर्डर नवदीप विर्क और एडीशनल एडवोकेट जनरल दीपक मनचंदा को इस कमेटी का सदस्य बनाया है। हमने इस कमेटी को बाकी प्रांतों में जिनमें कानून बन चुका है या बनाया जा रहा है उसके प्रारूप का अध्ययन करने के निर्देश दिए हैं और मजबूत कानून को इस प्रदेश में बनाने के लिए बोला है ताकि कोई भी प्यार के जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन जैसी घिनौनी साजिश न रच सके।

प्रश्न : कोरोना वापसी कर रहा है। त्यौहारों व विवाहों का समय है, क्या दिशा-निर्देश दिए हैं?
उत्तर :
इसके लिए 2 ही कदम हो सकते हैं। पहला लॉकडाऊन और दूसरा सख्ती। मैंने दूसरा कदम अपनाने के निर्देश दिए हैं। मैंने प्रोटोकॉल की पालना के लिए सभी अधिकारियों को सख्ती से पालना के लिए बोल दिया है। हमने टैसिं्टग को भी डबल करने का फैसला लिया है। मैंने एन.सी.आर. के जिलों में इंडोर 50 और आऊटडोर में 100 और बाकी हरियाणा में इंडोर और आऊटडोर में 200 की सीमा निर्धारित की है।

प्रश्न : क्या इस कमेटी के लिए कोई समय अवधि निर्धारित की गई है?
उत्तर
: हमने इन्हें जल्द से जल्द यह काम करने के लिए बोला है।

प्रश्न : कोरोना वैक्सीन जल्द आने की उम्मीद है?
उत्तर :
वैक्सीन कब आएगी कुछ पता नहीं है अभी तो ट्रायल चल रहा है और मैंने ट्रायल के लिए ही इंजैक्शन लगवाया था। ट्रायल कब पूरा होगा, कब मान्यता मिलेगी, मिलेगी भी या नहीं यह अभी पता नहीं है।

प्रश्न : पहले फरवरी और मार्च में  वैक्सीन आने के संकेत थे और चर्चा थी कि पहले कदम में कोरोना वैरीयस हैल्थ को वैक्सीन दी जाएगी?
उत्तर :
केंद्र सरकार इसके प्रारूप तैयार कर रही है। फ्रंट लाइन में डॉक्टर्स, पुलिस कर्मचारी और सफाई कर्मचारी हैं जिन्हें वैक्सीन दी जाएगी। उसके बाद 65 साल से ऊपर के लोगों को और फिर उसके बाद 65 साल से नीचे जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं उन्हें वैक्सीन दी जाएगी।


Isha

Related News