तीन महीने के बच्चे के दोनों जबड़े आपस में थे चिपके हुए, डॉक्टरों ने इलाज कर दिया नया जीवन

punjabkesari.in Thursday, May 26, 2022 - 03:46 PM (IST)

रोहतक(दीपक): डॉक्टरों को भगवान का रूप कहा जाता है। क्योंकि वो किसी नया जीवन देने की काबिलयत रखते हैं। ऐसा ही एक मामला रोहतक जिले से सामने आया जहां एक तीन साल के बच्चे को डॉक्टरों ने नया जीवन दिया है।

दरअसल, गुड़गांव की सीमा को 3 महीने पहले पहली संतान लड़के के रूप में पैदा हुई तो पूरे घर में खुशियों की बहार आ गई लेकिन बच्चे के जन्म के थोड़ी देर बाद यह खुशियां घबराहट में बदल गई । जब मां बच्चे को दूध पिलाने लगी तो उसके होश उड़ गए क्योंकि बच्चे के दोनों जबड़े आपस में चिपके हुए थे और उसका मुंह नहीं खुल पा रहा था। बस मुंह में इतना सुराग था कि बच्चे को बूंद बूंद दूध पिलाया जा सके।

लेकिन जब मामला डॉक्टरों तक पहुंचा तो ऑपरेशन के बाद अब बच्चा दूध पीने लगा है जिसे बच्चे की मां ने राहत की सांस लेते हुए कहा है कि डॉक्टर उनके लिए भगवान का रूप है। डॉक्टर ने लोगों से कहा है कि इस तरह के केस में घबराने की बजाय डॉक्टरों की सलाह लेनी चाहिए।

इस मामले को लेकर पंडित बीडी शर्मा पीजीआइएमएस के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ़ डेंटल साइंसेस के सीनियर प्रोफेसर डॉ वीरेंद्र सिंह ने बताया कि उनके 25 साल के डॉक्टरी जीवन में उन्होंने ऐसा पहला केस देखा है और हरियाणा का भी यह पहला केस है। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर बच्चे का ऑपरेशन उनके लिए एक प्रकार का चैलेंज था। जिसका उन्होंने 2 दिन पहले सफल ऑपरेशन किया है। डॉक्टर

वीरेंद्र सिंह ने बताया कि 3 महीने पहले बच्चे के परिजन बच्चे को उनके पास लाए थे बच्चे की हालत देखने पर पता चला की बच्चे के मुंह में सामने की तरफ थोड़ा सा सुराग था जबकि दोनों जबड़े आपस में चिपके हुए थे। उस समय बच्चे का वजन हल्का होने के कारण 3 महीने बाद ऑपरेशन निर्धारित किया गया । चैलेंज स्वीकार करते हुए जिसका 2 दिन पहले ही डॉक्टरों की पूरी टीम ने सफल ऑपरेशन किया है । अब बच्चे की ग्रोथ भी होगी और पूरी तरह से दोनों जबड़े खोल कर आराम से फीड भी ले सकेगा ।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static