हुड्डा बोले- राज्य में घोटाले पर घोटाले हो रहे, अब ओवरलोडिंग घोटाला कितना बड़ा इसका अंदाजा नहीं

punjabkesari.in Tuesday, Aug 11, 2020 - 04:34 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रदेश में लगातार सामने आ रहे घोटालों को लेकर मनोहर सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक घोटाले की जांच शुरू होती है तो दूसरा घोटाला शुरू हो जाता है। धान, शराब, रजिस्ट्री के घोटाले के बाद अब ओवरलोडिंग का घोटाला हुआ। ओवरलोडिंग का घोटाला कितना बड़ा है, इसका किसी को अंदाजा नहीं। ओवरलोडिंग माफिया तय करता है कि ट्रक सड़क से जाएगा या गांव के रास्तों से जाएगा। 

उन्होंने कहा कि राज्य में घोटाले पर घोटाले पर हो रहे हैं। प्रदेश में घोटालों का दौर चल रहा है। हुड्डा ने कहा कि छोटे-मोटे अफसरों पर गाज गिराने से कोई हल नहीं होगा। हुड्डा ने कहा कि गृहमंत्री ने शराब घोटाले की एसआइटी से जांच की बात कही, मगर जांच एसईटी से कराई। एसईटी को कोई पावर नहीं। धान का घोटाला आया तो पहली स्टेटमेट में कहा गया कि कोई घोटाला नहीं हुआ। फिर खरीद से लेकर सरकारी स्टॉक में घोटाला मिला। माइनिंग के लिए यमुना का रास्ता भी बदल दिया। उन्होंने शायराना अंदाज में कहा कि प्रदेश में अजीब सी हालत हुई है तेरे आने के बाद। शाम तक पुराना हो जाता है सुबह का दर्द। 

उन्होंने कहा कि डीजल और पेट्रोल पर दिल्ली सरकार ने भी वेट की दर कम कर दी, लेकिन हरियाणा ने 19 रुपये बढ़ा दी। किसान की लागत बढ़ा रहे हैं आमदनी घट रही है। प्रदेश सरकार को भी वेट की दर कम करनी चाहिए। 

भ्रष्टाचार को लेकर भी हुड्डा ने प्रदेश सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक कृष्ण मिढ़ा कह रहे हैं जींद में चार साल में हर ईंट भ्रष्टाचार से लगी है। हुड्डा ने कहा कि भ्रष्टाचार की जांच निष्पक्ष जांच एजेंसी से कराई जाए। 

इसके साथ हुड्डा ने कहा कि शराब घोटाले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से कराई जानी चाहिए। हम चाहते हैं कि लोकसभा की संयुक्त संसदीय कमेटी की तर्ज पर ही विधानसभा के सभी दलों की संयुक्त कमेटी बनानी चाहिए। ताकि इन सभी घोटालों को यह कमेटी देखे।

वहीं हटाए गए पीटीआई शिक्षकों को लेकर हुड्डा ने कहा कि 1983 पीटीआई परेशान हो रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी मेरिट पर कोई सवाल नहीं उठाया है। सिर्फ तकनीकी आधार पर नौकरी खत्म हुई है। हरियाणा सरकार को संवैधानिक अधिकार के तहत रोजगार देना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीटीआइ शिक्षकों को लेकर कांग्रेस के सदस्य आगामी विधान सभा सत्र में प्राइवेट बिल लाएंगे।

केंद्र सरकार के कृषि से जुड़े अध्यादेशों पर हुड्डा ने कहा कि कांट्रेक्ट फार्मेंसिंग की जो यह नीति ला रहे हैं तो इसमें हमारे कुछ सवाल हैं। गुजरात में भी किसानों को यह नीति रास नहीं आई। यह किसान के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि स्वामीनाथन के सी- टू के तहत किसान को फसल का दाम मिलेगा। यदि इस बाबत सरकार अध्यादेश लाएगी तो कांग्रेस साथ रहेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

vinod kumar

Related News

Recommended News

static