कोरोना को होगा हराना: हरियाणा में बूस्टर डोज का अभियान शुरू, बुजुर्गों में देखने को मिला खासा उत्साह

punjabkesari.in Monday, Jan 10, 2022 - 08:39 PM (IST)

करनाल/पलवल/गुरुग्राम: देश भर में आज से फ्रंटलाइन वर्कर्स, हेल्थकेयर वर्कर्स व 60 साल से अधिक उम्र वाले नागरिकों को कोरोना से बचाव की बूस्टर डोज लगाने का अभियान शुरू हुआ। इसी क्रम में आज हरियाणा के सरकारी अस्पतालों में भी बूस्टर डोज लगाने का अभियान चलाया गया। इस दौरान बूस्टर डोज लगवाने को लेकर बुजुर्गों में खासा उत्साह देखने को मिला है। वैक्सीनेशन सेंटर टीका लगवाने पहुंचे अन्य नागरिकों ने कहा कि कोरोना उन्हीं लोगों की वजह से फैल रहा है जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई है।

डॉक्टरों का कहना है कि देखने में आया है कि कोविड- 19 का पहला व दूसरा टीका लेने के कुछ समय बाद एंटी बॉडी कमजोर होने लगती है। कोविड की तीसरी लहर को देखते हुए लोगों की इम्युनिटी पॉवर को बढ़ाने के लिए बूस्टर डोज लगाई जा रही है। बूस्टर डोज लगवाने से शरीर पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को बूस्टर डोज लगवाएं।

PunjabKesari, Haryana

करनाल में वैक्सीनेशन सेंटर पर आज से 3 तरह की डोज दी जा रही है। पहली डोज में 15-18 साल के लिए 82 शिविर, 18 साल से अधिक वाले नागरिकों के लिए 95 शिविर लगाए गए हैं। शहर में बूस्टर डोज के लिए 10 स्थानों के अलावा सभी सीएचसी व पीएचसी पर व्यवस्था की गई है। जिले में 12401 हेल्थकेयर वर्कर, 13323 फ्रंटलाईन वर्कर और 1.90 लाख के करीब 60 वर्ष से अधिक आयु वालों लोग हैं। इनमें से जिसकी दूसरी डोज लगे 9 महीने हो गए हों या फिर 39 हफ्ते पूरे हो गए हों, वही बूस्टर डोज लगवा सकेंगे। 

बूस्टर डोज लगवाले वाले डॉ. गजे सिंह ने बताया कि ओमिक्रॉन होने की संभावना बनी हुए है। इसके बचाव के लिए बूस्टर डोज लगाई जा रही है। कोरोना को हराने के लिए डोज लगवानी जरूरी है। पहले तेजी से फैलाव था। मौत भी ज्यादा हो रही है। अब देखने में आया है कि मौत बहुत कम हो रही हैं। डॉ. प्रदीप भाटिया ने बताया कि हमारे बचाव के लिए तीसरी डोज जरूरी है। ये हमारे साथ-साथ समाज और देश के लिए भी जरूरी है। 

PunjabKesari, Haryana

गौरतलब है कि देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 जनवरी यानी कि आज से बूस्टर डोज लगाने का एलान किया था। इसी के तहत आज से बूस्टर डोज लगाई जा रही है। गुरुग्राम में बूस्टर डोज के लिए लोग सीधे ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ले सकते हैं या टीकाकरण केंद्र पर जा कर टीका लगवा सकते हैं। बता दें कि कोविड-19 टीके की प्रीकॉशन डोज पहली दो खुराक की तरह ही होगी यानी जिन लोगों ने पहली दो खुराक कोविशील्ड की ली है, उन्हें कोविशील्ड टीका दिया जा रहा है और जिन लोगों ने कोवैक्सीन लिया है उन्हें कोवैक्सीन दिया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी दिशानिर्देशों के अनुसार प्रिकॉशन डोज दूसरी खुराक दिए जाने की तारीख से 9 महीने यानी 39 सप्ताह पूरे होने के आधार पर दी जा रही है।

PunjabKesari, Haryana

झज्जर जिले में सोमवार को बूस्टर डोज लगनी शुरू हो गई। बूस्टर डोज के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलग-अलग स्थान निर्धारित किए गए थे। इसी के चलते सोमवार को बुस्टर डोज लगवाने के लिए इन निर्धारित सेंटर पर लोगों में उत्साह देखा गया। सीएमओ डॉ. संजय दहिया ने बताया कि के अनुसार बूस्टर डोज के लिए जिला भर में स्थान अलग से निर्धारित किए गए है। जिन पर लोग उत्साह के साथ आकर बूस्टर डोज लगवा रहे हैं।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static