धोखाधड़ी व भ्रष्टाचार के केस में तत्कालीन एस.डी.एम. व पटवरी गिरफ्तार

punjabkesari.in Saturday, Oct 01, 2022 - 11:09 AM (IST)

फतेहाबाद: विजिलैंस विभाग की टीम ने धोखाधड़ी एवं भ्रष्टाचार के एक केस में फतेहाबाद के तत्कालीन एस.डी.एम. सतबीर जांगू व तत्कालीन सरपल्स पटवारी जगदीश चंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। उक्त दोनों के अलावा 9 अन्य लोगों पर 29 जून, 2022 को स्टेट विजिलैंस ब्यूरो हिसार ने मुकद्दमा दर्ज किया था। आरोप है कि तत्कालीन एस.डी.एम. व पटवारी ने गांव भूंदड़ा की करोड़ों रुपए की 223 कनाल सरपल्स जमीन को पात्रों का न देकर अपने चहेतों के नाम करवा दी। जिन लोगों के नाम जमीन करवाई उन 9 लोगों पर भी मुकद्दमा दर्ज हुआ है। इस मामले में जुलाई 2018 में जांच शुरू हुई थी और जून 2022 में मामला दर्ज हुआ। अब गिरफ्तारियां शुरू हो गई हैं।

 विजिलैंस के जांच अधिकारी डी.एस.पी. विजिलैंस सुरेंद्रपाल ने बताया कि गांव भुंदड़ा की 498 कनाल 14 मरले जमीन में से 223 कनाल जमीन को 1981 में सरकार ने सरप्लस घोषित कर दिया था। नियमानुसार 1971 से पहले गांव के बाशिंदे जिनके नाम 2 हैक्टेयर से ज्याद भूमि न हो उन्हें यह जमीन अलॉट की जानी थी लेकिन जांच में सामने आया कि लगभग 11 करोड़ रुपए कीमत की यह जमीन मात्र 20 हजार रुपए से कम कीमत पर पात्र लोगों को न देकर उन लोगों को दे दी गई जो या तो ज्यादा जमीन के मालिकान थे या फिर इस गांव के बाशिंदे ही नहीं थे।

 इस मामले में तत्कालीन एस.डी.एम. सतबीर जांगू व तत्कालीन सरप्लस पटवारी जगदीश चंद्र पर भी आरोप लगे। सतबीर जांगू अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं जबकि पटवारी अभी भी भट्टू क्षेत्र में तैनात है। विजिलैंस डी.एस.पी. राकेश मलिक ने बताया कि सोर्स से विभाग को 2018 में इस मामले की जानकारी मिली थी जिसके बाद जांच शुरू की गई थी। जांच में आरोप सामने आने पर 29 जून, 2022 को मामला दर्ज कर लिया गया था। आज इनमें से 2 आरोपी पूर्व एस.डी.एम. सतबीर जांगू व तत्कालीन पटवारी जगदीश चंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में कार्रवाई की जा रही है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static