सीएम बनने के बाद पहली बार जन्मदिन मनाने अपने पैतृक गांव पहुचें मुख्यमंत्री मनोहर लाल

punjabkesari.in Thursday, May 05, 2022 - 09:49 PM (IST)

रोहतक(दीपक): मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने अपने पैतृक बनियानी गांव के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय परिसर में बच्चों के साथ अपना 69वां जन्मदिन मनाने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे गांव में मुख्यमंत्री नहीं बल्कि मनोहर लाल बनकर आए हैं। बचपन में उनकी दादी घर में उन्हें मन्नु के नाम से पुकारती थी। मुख्यमंत्री ने विद्यालय परिसर में बनाई गई मनोहर वाटिका में पौधारोपण किया और आंगनवाड़ी के बच्चों के साथ इस वाटिका में 68 पौधे भी लगाए। उन्होंने विद्यालय में विभिन्न कार्यों के लिए 50 लाख रुपये की राशि देने की घोषणा भी की।

5 मई को स्कूल में हुआ था एडमिशन, इसलिए इसी दिन मनाते हैं जन्मदिन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने  अपने भाषण में कहा कि आज गांव में आकर उनकी बचपन की यादें ताजा हुई है। उन्होंने कहा कि विद्यालय में 6 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर ही पहली कक्षा में प्रवेश दिया जाता था। उनके परिजनों ने 5 मई 1960 को विद्यालय में प्रथम कक्षा में प्रवेश करवाया था तथा संबंधित अध्यापक द्वारा 5 मई को उनके जन्मदिन की तिथि के रूप में दर्ज किया गया था। उन्होंने कहा कि जन्मदिवस के अवसर पर उन्हें देश के राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा स्पीकर समेत विभिन्न नेताओं और आम जनता से ढेरों शुभकामनाएं मिली है। उन्होंने इन सभी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि उनका जन्म निंदाना गांव में हुआ था, जिसके बाद उनका परिवार बनियानी गांव में आकर बस गया। बनियानी गांव में ही उनका बचपन बीता। उन्होंने बचपन के अनुभव सांझा करते हुए कहा कि पहले गांव में रेत की कच्ची गलियां होती थी, जहां बच्चें खेलते थे। आज गांव में काफी विकास हुआ है तथा वातावरण काफी बदला है।  उन्होंने बताया कि वे 5वीं कक्षा के बाद गांव से लगभग 3 किलोमीटर पैदल चलकर भाली आनंदपुर गांव में शिक्षा ग्रहण करने जाते थे। सीएम ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है तथा बच्चों को आईटी के क्षेत्र में आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। 

मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी पहल की गई है। सरकार द्वारा एक हजार करोड़ रुपये की ई-अधिगम योजना के तहत आज 3 लाख विद्यार्थियों को पर्सनलाइज्ड एंड ऐडप्टिव लर्निंग सॉफ्टवेयर (पीएएल) से सुसज्जित टैब वितरित किये गए है। ऐसा करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य बन गया है। आगामी 30 जून तक 2 लाख टैब और पात्र विद्यार्थियों को वितरित किये जायेंगे। इसके अलावा 33 हजार अध्यापकों को भी यह टैब वितरित किये गए है। 

बनियानी गांव में पहुंचने पर मुख्यमंत्री का नागरिक अभिनंदन किया गया। हनुमान मंदिर समिति द्वारा भी मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को उनके बचपन का कोलाज भेंट किया, जिसमें शिक्षा ग्रहण करने के दौरान ग्रुप फोटो तथा विद्यालय में प्रवेश का रिकॉर्ड शामिल है। विद्यालय की छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया तथा मुख्यमंत्री को जन्मदिन की शुभकामनाएं के साथ-साथ दीर्घायु एवं अच्छे स्वास्थ्य की कामना की।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static