सुशासन की परिकल्पना को सही मायने में मूर्तरूप दे रहा है सीएम विंडो व उनका टिवटर हैंडल

punjabkesari.in Tuesday, Jan 04, 2022 - 09:21 AM (IST)

चंंडीगढ़(चन्द्र शेखर धरणी): हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस 25 दिसंबर से उनके सुशासन की परिकल्पना को साकार करने के लिए वर्ष 2014 से आरम्भ की गई सीएम विंडो की व्यवस्था सही मायने में सुशासन को मूर्तरूप दे रहा है। हर रोज औसतन 347 शिकायतों का समाधान मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किया गया है। जो इस बात को चरितार्थ कर रहा है।

मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल के अनुसार इस व्यवस्था पर आई शिकायतों, समास्याओं व सुझावों पर मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा तत्काल संज्ञान लेकर उनका कम से कम समय में समाधान किया जाता है और शिकायतकर्ता को उसके मोबाइल या रि-ट्विट करके सूचित किया जाता है कि उसके द्वारा की गई शिकायत किस स्तर पर है। उन्होने बताया कि सरकार के 2624 दिनों के कार्यकाल के दौरान 908024 शिकायतें/सुझाव प्राप्त हुए है। जो इस बात का दर्शाता है कि सीएम विंडो व ट्विटर हैंडल की व्यवस्था लोगो को खूब रास आ रही है मात्र साढ़े तीन घंटे में कैथल से मिली एक शिकायत का समाधान होने से लोग इसे मानने लगे है आर टी आई से भी ज्यादा असरदार। 

वर्ष 2021 में 123848 शिकायतों में से 74752 का हुआ निपटान
 भूपेश्वर दयाल के अनुसार सीएम विंडो के साथ-साथ टिवटर हैंडल पर भी युवा पीढ़ी अपने परिवार, मोहल्ले व अन्य सार्वजनिक हित की शिकायतें के बारे व विडियो के साथ मुख्यमंत्री के टिवटर अकाऊंट पर पोस्ट करते है और उनकी शिकायतों का समाधान होने के बाद रि-टिवट में धन्यवाद भी करते है। उन्होने बताया कि वर्ष 2021 के दौरान सीएम विंडो पर आई 123848 शिकायतों में से 74752 का निपटान होने से लोग की इस व्यवस्था के प्रति जागरूकता बढ़ी है। 

हिसार के जिंदल अस्पताल द्वारा वसूल किए अधिक बिल की राशि वापिस दिलवाई
ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल के हिसार से टिकट नंबर 346318 से CA Gaurav Aggarwal  ने 8950532001 से @Gaurav_ACA से @SavitriJindal, @anilvijminister, @mlkhattar, @MPNaveenJindal @sajjanjindal को ट्विट पोस्ट किया कि जिंदल अस्पताल द्वारा 17123 रूपये की राशि का बिल कलेम किया गया जो टीपीए से अनुमोदित होने की बावजूद भी 850 रूपये राशि unclaimed चार्ज के रूप में वसूली की गई। उन्होने बताया कि सीएमओ द्वारा इतने नामी अस्पताल की लापरवाही के बारे मामले पर संज्ञान लिया गया और अस्पताल से जानकारी ली गई और इस unclaimed राशि को वापिस दिलाया गया। अपने संतोषजनक टिवट में CA Gaurav Aggarwal ने @cmohry, @mlkhattar, @anilvijminister कहा कि मेरी समस्या का समाधान हो गया है जिस तरीके से आप जनता की शिकायतों समस्या कर रहे हो उसे में पसंद करता हूं। ऐसे ही जारी रखो जय हिन्द।

का समाधान नारी की गंभीरता को देखते सीएमओ कार्यालय के अधिकारी सतर्क हुए और तत्काल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए गए। उन्होने बताया कि 3 नवंबर, 2021 को ही सांय 6ः06 बजे ही बलकार चौधरी ने अपने मोबाइल नं 9911260247 से @cmohry, @anilvijminister को रि-ट्विट किया कि श्रीमान जी इस सकारात्मक प्रतिक्रिया के लिए आपका धन्यवाद।

उन्होने बताया कि इस व्यवस्था के प्रति विश्वास बढ़ा है और मानने लगे है की यह तो आर टी आई से भी ज्यादा असरदार है क्योंकि सरकारी विभागों से आर टी आई से मांगी गई सूचना के बारे जानकारी प्राप्त होने में कई-कई महीने लग जाते है, परन्तु इस व्यवस्था पर तो ज्योंहि शिकायत अपलोड होती है तो उसी दिन मुख्यमंत्री कार्यालय से सूचित किया जाता है कि आपकी शिकायत प्राप्त हुई है और इसके समाधान की प्रक्रिया आरम्भ कर दी गई है। उन्होंने बताया कि ऐसे कई मामले हैं कि कई विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय से डिग्रियां व छात्रवृतियां इस व्यवस्था के माध्यम से मिली हैं। लोगों ने व्यक्तिगत रूप या पत्राचार के माध्यम से सीएम विंडो व ट्विटर हैंडल से जुड़े अधिकारियों का आभार व्यक्त किया है। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static