120 खापों की महापंचायत में मांग, जाटों व अन्य जातियों पर दर्ज केस हों वापस

8/3/2020 11:18:05 AM

गोहाना (सुनील जिंदल) : जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान जाटों व अन्य जातियों पर जितने भी केस दर्ज किए गए वे सब वापस लिए जाएं। यह मांग रविवार को 120 खापों की सर्वजातीय सर्वखाप महापंचायत में की गई। महापंचायत में सगोत्र और साथ के गांव में शादी पर कानूनी प्रतिबंध की मांग भी जोर-शोर से की गई। सर्वजातीय सर्वखाप महापंचायत छिछड़ाना गांव में गठवाला खाप के चबूतरे पर हुई। अध्यक्षता गठवाला खाप के अध्यक्ष कुलदीप मलिक ने की तथा संचालन राष्ट्रीय महासचिव अशोक मदीना ने किया।

महापंचायत में सर्वजातीय सर्वखाप पंचायत के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूबे सिंह समैण व महम हलके के निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू भी पहुंचे। महापंचायत में 9 मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। मंडियों और बोर्ड को खत्म करने के प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया गया तथा इसे पूरी तरह से किसान व व्यापारी के साथ जनविरोधी भी करार दिया गया। सरकार से मांग की गई कि खेतों में बिजली के खंभे गाडऩे पर उपयोग में आने वाली जमीन की किसान को पूरी कीमत अदा की जाए। डीजल के दामों में लगातार बढ़ौतरी और किसानों को एम.एस.पी. न मिलने पर रोष व्यक्त किया गया।

सर्वजातीय सर्वखाप महापंचायत में पंचायत-निकाय चुनावों में महिला आरक्षण 33 से बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने के प्रस्ताव का भी भरपूर समर्थन किया गया। सर्वसम्मति से हुए निर्णय में तय किया गया कि यदि सुनील श्योराण के शहीदी दिवस 13 सितम्बर तक सरकार जाट आरक्षण से जुड़ी मांगों को पूरा नहीं करेगी तब इसके लिए आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। 


Edited By

Manisha rana

Related News