बाजरा के दोगुने दाम वसूल रहे डिपोधारक, निवाले के लिए लुट रहे हैं गरीब

11/17/2019 2:14:27 PM

कालांवाली ( प्रजापति): क्षेत्र के गांव और मंडी में खाद्य एवं आपूॢत विभाग के कार्यालय के अधीन आने वाले कई डिपो धारकों की ओर से गरीब परिवारों को सरकार की ओर से उन्हें दिए जा रहे निवाले को लेकर सरेआम लूटा जा रहा है। अब गरीब करें भी तो क्या करें, क्योंकि उसे पूरी जानकारी नहीं है और जानकारी के अभाव के चलते वह लुट रहा है, क्योंकि उसे अपना पेट जो भरना है। अब गरीब क ो पेट भरने की है तो कैसे सोच सकता है कि जिस पेट भरने को लेकर वह राशन ले रहा है उसी के नाम पर उसे लूटा जा रहा है।

‘पंजाब केसरी’ को भरोसेमंद सूत्र बताते हैं कि सरकार और विभाग की और से निर्देश है कि गरीब परिवार को गेहूं 2 रुपए प्रति किलो व बाजारा 1 रुपए प्रति किलो देना है लेकिन सरेआम बाजरा के भी 2 रुपए किलो के पैसे लिए जा रहे है। गौर करने वाली बात है कि जिन लोगों क ो राशन मिलता है वे गरीब होते हैं और गरीबों को सरेआम लूटने का काम हो रहा है। सरकार व प्रशासन को इसकी जांच करनी चाहिए। काबिलेज्रिक बात है कि कालांवाली में डिपो धारकों की ओर पहले भी राशन बांटने की एक जांच कालांवाली के उपमंडल अधिकारी की ओर से की जा रही है, उसकी भी 3 साल पहले ‘पंजाब केसरी’ ने प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। उस समय दाल आने से पहले ही कई डिपो धारकों ने धारकों को दाल बांट दी थी। कालांवाली क्षेत्र के लोगों को जागरूक होने की जरूरत है तभी जाकर ऐसे कारनामों पर नके ल डाली जा सकती है। 

यह मिलता है राशन
गुलाबी कार्ड धारक को 15 किलो गेहूं और 20 किलो बाजरा मिलना है, वहीं बी.पी.एल. और ओ.पी.एच कार्ड धारक को 2 किलो गेहंू प्रति व्यक्ति और 3 किलो बाजारा प्रति व्यक्ति मिलना है। 

ये मिलीभगत
सूत्र बताते है कि विभाग के अधिकारियों के साथ मिलीभगत की हुई है सरेआम गरीब परिवारों को लूटा जा रहा है और बाद में बंटवारा होगा। भष्ट्राचार मुक्त सरकार में सरेआम गरीबो को लूटने का काम किया जा रहा है। सूत्र बताते हें कि कालांवाली मंडी के अधिकतर डिपोधारक ऐसा कर रहे हैं, वहीं गांव तख्तमल, धर्मपुरा, तिलोकेवाला, खतरावां, सुखचैन/गदराना, भादड़ा इन गांवों में गड़बड़झाला चल रहा है। 


Isha

Related News