दिग्विजय ने छोड़े शब्द ‘बाण’ ! कहा- पंजाब बड़े भाई की भूमिका में रहे, बॉस ना बने (VIDEO)

punjabkesari.in Tuesday, Apr 05, 2022 - 07:29 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): जननायक जनता पार्टी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला ने कहा कि चौधरी देवीलाल सरीखे नेताओं ने बड़ी कुर्बानियां देकर - बड़ी बड़ी लड़ाइयां लड़ कर पंजाब से हरियाणा को बनवाया था। आज भी 400 हिंदी भाषी गांवों- एसवाईएल के पानी - चंडीगढ़ से जुड़ी काफी चीजों को लेकर हमारी मांग है। हम 1 इंच भी जमीन अपने हक की नहीं जाने देंगे। एसवाईएल का पानी लेकर रहेंगे हम आज भी अपने स्टैंड पर क्लियर हैं और कल भी रहेंगे। चौटाला ने कहा कि हरियाणा के लोग बेहद शांतिप्रिय लोग हैं। इनको मजबूर मत करो, क्योंकि यह बहुत अधिक मजबूत है।अगर हरियाणा के लोग बॉर्डर पर बिठाकर आप को खाना खिला सकते हैं, सम्मान दे सकते हैं तो फिर वह अपना हक भी लेना जानते हैं। कहीं चिंगारी आग का रूप ना ले ले। इसलिए पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार को अपनी आदत सुधारनी  होगी।

पंजाब की आम आदमी पार्टी की सरकार पर बड़ी टिप्पणी करते हुए जननायक जनता पार्टी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला ने कहा है कि पड़ोसी राज्य की नई नवेली सरकार, बिना तजुर्बे की सरकार है जो कि ख्वाबी पुलाव तैयार करके बैठी है। उन्हें नहीं पता कि हरियाणा का चंडीगढ़ पर 40 फ़ीसदी का हिस्सा है। आज भी हरियाणा उसके लिए प्रयासरत है। जूझ रहा है और समय-समय पर इस मांग को उठाता रहा है। हम अभी तक कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। आज तक भी हरियाणा को विधानसभा में अपना पूरा हिस्सा नहीं मिल पाया। पंजाब यूनिवर्सिटी में हरियाणवी स्टूडेंट सबसे अधिक है। लेकिन उसमें भी हरियाणा को हिस्सा नहीं मिल पाया। यह जो सपना आम आदमी पार्टी के लोग देख रहे हैं इसे भूल जाएं। हम बड़ी स्पष्टता से यह बात समझा देना चाहते हैं कि जब हमें साझा करना आता है तो पंजाब की सरकार  जान ले कि हमें अकेला रखना भी आता है। कहीं जिस चिंगारी को वह लगाना चाह रहे हैं, वह आग ना बन जाए। कहीं ऐसा ना हो कि सदियों से बना हुआ भाईचारा टूट जाए। अगर हम पंजाब को अपना बड़ा भाई मानते हैं तो वह बड़े भाई की भूमिका में रहे। बॉस बनने की कोशिश मत करें। हम पंजाब को जमीन का 1 इंच भी देने वाले नहीं हैं। लेकिन हम उनके छीन जरूर सकते हैं, हमें इतना मजबूर मत करें।

किसी दल में कोई भी व्यक्ति जाए यह सभी का लोकतांत्रिक अधिकार :दिग्विजय चौटाला

इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तवर द्वारा आम आदमी पार्टी का दामन थामने पर टिप्पणी करते हुए कहा कि यह सभी का लोकतांत्रिक अधिकार है। कोई कहीं भी किसी भी दल में जा सकता है। हमारी पार्टी में भी बहुत से लोग शामिल होते हैं। नया-नया मामला पंजाब में सभी को दिख रहा है। जिन लोगों को कहीं जगह नहीं मिलती वह नई जगह की तलाश करते हैं। यह कोई बड़ी बात नहीं है।

हरियाणा में कांग्रेस का कोई राजनीतिक भविष्य नहीं बचा : दिग्विजय चौटाला

इस मौके पर चौटाला ने कांग्रेस पर भी बड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस में ऊपर से लेकर गांव तक बुरा हाल मचा हुआ है। कांग्रेस गुटबाजी की शिकार बनी हुई है। जिसके चलते कांग्रेस पूरी तरह से टूट चुकी है और मुझे लगता है कि हरियाणा में कांग्रेस का कोई राजनीतिक भविष्य नहीं बचा है। जिस कारण से आम आदमी पार्टी को थोड़ी बहुत तवज्जो मिलने लगी है। चौटाला ने कहा कि जिस जिस जगह कांग्रेस मजबूत थी, वही वही आम आदमी पार्टी अपना स्थान बनाती जा रही है। कांग्रेस के विकल्प के रूप में लोगों ने आम आदमी पार्टी को अपनाना शुरू किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व के दखल के बावजूद कांग्रेस की चंडीगढ़ और दिल्ली में हुई अलग-अलग बैठकों ने यह तय कर दिया है कि पहले तो केवल दो बर्तन खड़क रहे थे, अब पूरी तरह से कांग्रेस का परिवार बिखर चुका है। जिसका साफ नजारा हरियाणा विधानसभा के आपात सत्र के दौरान सभी कांग्रेसी लीडरों भूपेंद्र सिंह हुड्डा, किरण चौधरी, कुलदीप बिश्नोई द्वारा अपनी अपनी पीठ थपथपाते हुए नजर आया। कुलदीप चौधरी भजन लाल के नाम पर, किरण चौधरी चौधरी बंसीलाल के नाम पर और हुड्डा अपने नाम पर क्रेडिट लेना चाहते हैं। चौटाला ने कहा कि हरियाणा बनने के बाद अब यह मुद्दा सभी हरियाणा वासियों का मुद्दा है। इसलिए सभी को मिलकर लड़ना होगा। 

रैलियों देखकर बहुत से लोगों को हो गई बदहजमी : दिग्विजय चौटाला

जेजेपी संगठन पर बात करते हुए प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला ने कहा कि पार्टी द्वारा आयोजित सभी रैलियां बेहद कामयाब रैलियां साबित हुई है। जहां-जहां डॉ अजय सिंह और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला गए, वहां लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। विरोधी इस बात को हजम नहीं कर पाए। उनके लिए यह बहुत मुश्किल की घड़ी थी कि इतना पसीना बहाने के बावजूद, झूठी मनगढ़ंत कहानियां बनाने के बावजूद किसान आंदोलन के बाद जहां यह कहा जा रहा था कि गांवों में नहीं घुसने देंगे, रैलियां नहीं करने देंगे, इतना प्यार -इतना दुलार और विश्वास दुष्यंत पर लोगों ने दिखाया इससे काफी लोगों को बदहजमी हो गई। उनकी उम्मीदों से विपरीत यह रैली हुई। हरियाणा के लाखों लोगों ने दुष्यंत चौटाला को आशीर्वाद दिया। हरियाणा के एकमात्र दुष्यंत ऐसे नेता है जिन्हें युवाओं का साथ मिला है। दुष्यंत की एक कॉल पर 15 से 20000 युवा खड़े हो गए। हमारी पार्टी और चौधरी दुष्यंत के बारे में बुरी बुरी बातें कहने वाले लोगों को भी यह पता चल चुका है कि आज भी प्रदेश की जनता का प्यार दुष्यंत के साथ है। दुष्यंत एक ऐसे नेता है जो अपनी लकीर को बड़ा करते हैं। लेकिन छूटभैया लोग दुष्यंत की लकीर को काटना चाहते हैं।

मैं दुखी था दादा पर की गई टिप्पणी से : दिग्विजय चौटाला

दिग्विजय चौटाला ने चौधरी वीरेंद्र डूमरखा को उनके जन्मदिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं बेहद दुखी हुआ था, जब उन्होंने मेरे दादा के बारे में एक गलत टिप्पणी की थी। मैंने इस पर उनको खेद प्रकट करने के लिए भी मीडिया के माध्यम से कहा था और उन्होंने मेरी बात मानी और यू-टर्न लेते हुए कहा कि मैं गलती से यह बात कह बैठा। चौटाला ने कहा कि मेरे दादा कभी किसी को व्यक्तिगत जीवन में कहीं जाने से नहीं रोकते। यह उनका मौलिक अधिकार है और वह तो एक बेहद सामाजिक व्यक्ति हैं जो सबके सुख दुख में शामिल खुद तो होते ही हैं दूसरों को भी प्रेरित करते हैं ।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static