दहेज की बलि चढ़ी नवविवाहिता शादी के सवा महीने बाद की आत्महत्या

punjabkesari.in Sunday, Jan 19, 2020 - 11:03 AM (IST)

भिवानी : दिनोद गेट में ब्याही एक युवती को उसके ससुरालियों ने दहेज के लिए इतना परेशान किया कि उसे शादी के सवा एक महीने बाद ही आत्महत्या करनी पड़ी। इसकी जानकारी मिलने पर मृतका के मायकेवाले सिविल अस्पताल पहुंचे। यहां मृतका के मायकेवालों और ससुरालियों के बीच खूब हंगामा हुआ। इसकी जानकारी मिलने पर विधायक घनश्याम सर्राफ भी अस्पताल पहुंचे।

बाद में पुलिस ने मृतका के पति, सास और पति की बुआ के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस को दी शिकायत में जींद निवासी हरगोविंद ने बताया कि उसकी 30 साल की बेटी अंजू की शादी एक माह पहले पिछले साल 8 दिसम्बर को दिनोद गेट निवासी निशू के साथ की थी। उन्होंने बताया कि शादी के अगले ही दिन उसकी बेटी को ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा दहेज के लिए परेशान किया जाने लगा। इस बारे में मृतका के मामा मामन गोयल ने बताया कि अंजू के पति, सास व बुआ उसे गाड़ी व मकान बनाने के लिए पैसे की मांग को लेकर शादी के अगले दिन से ही तंग करने लगे थे। मामा ने बताया कि उनके पास शनिवार को भिवानी निवासी दूसरे दामाद का फोन आया तब उन्हें अंजू द्वारा फंदा लगाए जाने की जानकारी मिली। 

आराम से बैठे थे अंजू के ससुराली
मामन गोयल ने बताया कि इस पर वे अंजू की ससुराल आए तो देखा कि अंजू अंदर फंदे पर लटके हुए थी और उसके ससुराल के सभी लोग आराम से घर में बैठे थे। उन्होंने बताया कि अंजू के ससुरालियों के चेहरे पर किसी तरह की शिकन नहीं थी और न ही वे परेशान दिख रहे थे। इसके अलावा वे न ही किसी को कुछ बता रहे थे। इस बात को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। इस पर पुलिस ने मौके पर आकर दरवाजा तोड़कर अंजू को फंदे से उतारा।

पुलिस शव को लाई अस्पताल
इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल लाया गया। यहां दोनों पक्षों के लोगों की भीड़ जमा हो गई और एक-दूसरे पर आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे। वहीं इसी दौरान विधायक घनश्याम सर्राफ भी मौके पर पहुंचे और दोनों पक्षों को शांत करवाया व उचित न्याय करवाने का भरोसा दिलवाया। विधायक ने कहा कि वे किसी के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। इसके बाद दोनों पक्ष शांत हुए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Isha

Related News

Recommended News

static