डॉक्टर कमला वर्मा हुई पंचतत्व में विलीन, शिक्षा मंत्री और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बोले- यह अपूरणीय क्षति

2021-06-09T14:09:35.65

यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय): हरियाणा की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री रह चुकी डॉक्टर कमला वर्मा आज पंचतत्व में विलीन हो गई। उनके  बेटे विमर्श कांत वर्मा व छोटे बेटे राजन वर्मा ने उन्हें मुखाग्नि दी। उनके अन्तिम संस्कार में शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ सहित भारी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओ, शहर वासियों, धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधी शामिल हुए।
PunjabKesari
बता दें कि वह 34 दिनों से लगातार हस्पताल में थी। वह 93 साल की थी। उनके दो बेटे हैं बड़े बेटे का  विमर्श कांत वर्मा , राजन वर्मा  हैं। डॉक्टर कमला वर्मा 1977,87, 96 में तीन बार हरियाणा की कैबिनेट मंत्री रही। डॉक्टर कमला वर्मा का राजनैतिक जीवन बहुत सम्मानित व गौरव पूर्ण रहा, उसका श्रेय जनसंघ व बीजेपी को है।  भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी सहित कई वरिष्ठ नेताओं के साथ कार्य कर चुकी डॉक्टर कमला वर्मा हरियाणा भाजपा की प्रथम महिला प्रधान रही। इसके बाद वह प्रदेश व देश में के महत्वपूर्ण पदों पर ही रही। 

PunjabKesari
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष बनते ही ओम प्रकाश धनखड़ भी इनका आशीर्वाद लेने पहुंचे थे। शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर,भाजपा प्रदेशाध्यक्ष  ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि यह अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर कमला वर्मा हरियाणा की पहली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनी।  हमारे   जैसे  कार्यकर्ता उन्हीीं के आशीर्वााद से इस  मुकाम तक है । उन्होंने अटल बिहरी वाजपेई,लाल कृष्णणआडवानी जैसे बड़े नेताओं के साथ लंबे समय तक काम किया। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static