ये कैसी अंधेरगर्दी, एक विभाग ने इंपाउंड किया, तो दूसरा मांग रहा है पार्किंग फीस

5/26/2020 4:17:01 PM

साेनीपत (पवन राठी): हरियाणा के साेनीपत में एक परिवार दाे विभागाें के कारण भूखे मरने की कगार पर पहुंच गया है। परिवार का रोजी रोटी कमाने का साधन एक विभाग के पास है, जिसके चलते अब भूखे मरने की नौबत पैदा हो गई है। सोनीपत का रहने वाला सचिन कुमार ई रिक्शा चालक है और वह लॉकडाउन से 1 दिन पहले मुरथल गया हुआ था तो आरटीओ विभाग ने उसकी ई रिक्शा को इंपाउंड कर दिया और उसे मुरथल स्थित हरियाणा रोडवेज विभाग के परिसर में खड़ा कर दिया।

3 दिन पहले सचिन ने जुर्माना भी भर दिया, लेकिन अब हरियाणा रोडवेज विभाग उससे पार्किंग फीस वसूलना चाहता है। जिसके चलते सचिन कुमार आपकी पत्नी समेत लघु सचिवालय में धरने पर बैठ गया है।

PunjabKesari, haryana

यह है पूरा मामला
सचिन लॉकडाउन से 1 दिन पहले मुरथल गया हुआ था तो आरटीओ विभाग ने उसकी रिक्शा को इंपाउंड करके 55 साै रुपए का चालान कर दिया और उसे हरियाणा रोडवेज के मुरथल स्थित कार्यालय में खड़ा कर दिया। हालांकि उसने अब सभी कागजात दिखाकर अपना फाइन यानी कि जुर्माना भर दिया है, लेकिन अब हरियाणा रोडवेज उससे उसकी ई रिक्शा खड़ी करने का पार्किंग फीस वसूलना जाती है। सचिन के पास पार्किंग फीस देने के लिए एक भी पैसा नहीं है। क्योंकि 2 महीने से वह कोई भी रोजगार नहीं कर पाया है, कमाई का जो साधन था वह भी वही खड़ा है। इसके साथ ई रिक्शा में लगा कई हजार रुपए का सामान भी चोरी हो गया।

सचिन कुमार ने बताया जब जुर्माना भरने के बाद वह रिक्शा काे लेने हरियाणा रोडवेज के परिसर गया तो वहां से उसे ई रिक्शा नहीं दी बल्कि 8 हज़ार रुपये पार्किंग फीस भी भरने को कहा। उसने कहा कि मैं पैसे कहां से लाऊं,  लॉकडाउन में कोई कमाई नही हुई। सचिन ने कहा कि अब यहां तब तक धरना दूंगा जब तक मेरी समस्या का समाधान नहीं होता।

वहीं उसकी पत्नी ने कहा कि मैं दूसरों के घर में काम करके घर का खर्चा चला रही हूं, जबकि हमारी ई रिक्शा को नहीं छोड़ा जा रहा हैं। घर में दो बच्चे भी है, लेकिन हमसे कोई अधिकारी मिलने भी नही पहुंचा है।

(अगर आप केवल सोनीपत की ही खबरें पढऩा चाहते हैं तो लाईक करें Facebook पेज Sonipat Kesari)


Edited By

vinod kumar

Related News