किसानों का ऐलान : जबरन जमीन अधिग्रहण हुआ तो आगामी निगम व पंचायत चुनाव का करेंगे बहिष्कार

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 08:31 PM (IST)

मानेसर,(ब्यूरो): पिछले दस दिनों से मानेसर के एचएसआईआईडीसी परिसर में धरने पर बैठे 125 गांवों के किसानों ने ऐलान किया कि अगर प्रदेश सरकार द्वारा कासन, कुकडोला व सहरावन गांव की 1810 एकड़ जमीन का जबरन अधिग्रहण किया गया तो आगामी नगर निगम और पंचायत चुनावों का बहिष्कार किया जाएगा। जमीन बचाओ किसान बचाओ संघर्ष समिति के तत्वाधान में धरना स्थल पर हुई बैठक में किसानों ने सर्वस मति से इस बारे में फैसला लिया।

गुरुग्राम की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।


इस मौके पर किसानों ने कहा कि गुरुवार को जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव के साथ बैठक में उपायुक्त ने किसानों को प्रदेश सरकार का फैसला आने तक जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पर अस्थाई रोक लगाने का आश्वासन दिया था। किसानों ने कहा कि जमीन हमारी मां है, ऐसे में यदि 1810 एकड़ जमीन का अधिग्रहण हुआ तो किसान अनाथ हो जाएंगे। वैसे भी प्रदेश सरकार हमारी 80-85 प्रतिशत जमीन का पहले ही अधिग्रहण कर चुकी है। ऐसे में शेष 15-20 प्रतिशत जमीन का अधिग्रहण किसी भी कीमत पर नहीं होने दिया जाएगा। संघर्ष समिति के सदस्यों ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल और केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह से मिले आश्वासन के बाद किसानों को उम्मीद है कि प्रदेश सरकार 1810 एकड़ जमीन को अधिग्रहण से मुक्त करने का किसान हितैषी निर्णय लेकर क्षेत्र के 125 गांवों की जनभावनाओं का सम्मान करेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pawan Kumar Sethi

Related News

Recommended News

static